Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Apr 2023 · 1 min read

डॉ भीमराव अम्बेडकर

कर दिया आपने उद्धार इंसान का
क्या -क्या लिखूं ऐसे बाबा महान का

अपने मां बाप की चौदहवीं संतान थे
महार जाति उछूत शब्द से परेशान थे
पिताजी का नाम रामजी सकपाल था
सामाजिक,आर्थिक भेदभाव का हाल था

शिक्षा पर जोर दिया अपनी संतान का
क्या -क्या लिखूं ऐसे बाबा महान का

पढ़ाई में उत्कृष्ट प्रदर्शन के बावजूद
भेदभाव से व्यथित रहते सुनकर अछूत
विश्व विद्यालय के पहले अस्पृश्य बने
सोलह भाषाओं के इकलौते शिष्य बने

महिला पुरुष का दर्जा एक समान का
क्या -क्या लिखूं ऐसे बाबा महान का

अंधविश्वास ,अशिक्षा सामाजिक बुराई है
न्यायपूर्ण आदर्श समाज निर्माण में भलाई है
स्वाधीनता, समानता का समर्थन हो
वर्णव्यवस्था, भेदभाव में परिवर्तन हो

बना डाला नियम कानून संविधान का
क्या -क्या लिखूं ऐसे बाबा महान का।

नूर फातिमा खातून ” नूरी”
जिला- कुशीनगर
उत्तर प्रदेश

Language: Hindi
1 Like · 2 Comments · 385 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
आपकी सादगी ही आपको सुंदर बनाती है...!
आपकी सादगी ही आपको सुंदर बनाती है...!
Aarti sirsat
माँ
माँ
Anju
शीत की शब में .....
शीत की शब में .....
sushil sarna
बेटी से प्यार करो
बेटी से प्यार करो
Neeraj Agarwal
बात सीधी थी
बात सीधी थी
Dheerja Sharma
*कहीं जन्म की खुशियॉं हैं, तो कहीं मौत का गम है (हिंदी गजल ग
*कहीं जन्म की खुशियॉं हैं, तो कहीं मौत का गम है (हिंदी गजल ग
Ravi Prakash
दस्तूर ए जिंदगी
दस्तूर ए जिंदगी
AMRESH KUMAR VERMA
गुजारे गए कुछ खुशी के पल,
गुजारे गए कुछ खुशी के पल,
Arun B Jain
यदि आप किसी काम को वक्त देंगे तो वह काम एक दिन आपका वक्त नही
यदि आप किसी काम को वक्त देंगे तो वह काम एक दिन आपका वक्त नही
Rj Anand Prajapati
हर मोड़ पर ,
हर मोड़ पर ,
Dhriti Mishra
▫️ मेरी मोहब्बत ▫️
▫️ मेरी मोहब्बत ▫️
Nanki Patre
कुछ व्यंग्य पर बिल्कुल सच
कुछ व्यंग्य पर बिल्कुल सच
Ram Krishan Rastogi
राजर्षि अरुण की नई प्रकाशित पुस्तक
राजर्षि अरुण की नई प्रकाशित पुस्तक "धूप के उजाले में" पर एक नजर
Paras Nath Jha
!! वीणा के तार !!
!! वीणा के तार !!
Chunnu Lal Gupta
कुछ
कुछ
Shweta Soni
*इन तीन पर कायम रहो*
*इन तीन पर कायम रहो*
Dushyant Kumar
कोई भी मोटिवेशनल गुरू
कोई भी मोटिवेशनल गुरू
ruby kumari
देश मे सबसे बड़ा संरक्षण
देश मे सबसे बड़ा संरक्षण
*Author प्रणय प्रभात*
जीवन में ख़ुशी
जीवन में ख़ुशी
Dr fauzia Naseem shad
माया
माया
Sanjay ' शून्य'
बारह ज्योतिर्लिंग
बारह ज्योतिर्लिंग
सत्य कुमार प्रेमी
मुहब्बत का घुट
मुहब्बत का घुट
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
बहुत हुआ
बहुत हुआ
Mahender Singh
होली की हार्दिक शुभकामनाएं🎊
होली की हार्दिक शुभकामनाएं🎊
Aruna Dogra Sharma
23/60.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/60.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
वायदे के बाद भी
वायदे के बाद भी
Atul "Krishn"
फूल को,कलियों को,तोड़ना पड़ा
फूल को,कलियों को,तोड़ना पड़ा
कवि दीपक बवेजा
कितना आसान होता है किसी रिश्ते को बनाना
कितना आसान होता है किसी रिश्ते को बनाना
पूर्वार्थ
न छीनो मुझसे मेरे गम
न छीनो मुझसे मेरे गम
Mahesh Tiwari 'Ayan'
इधर उधर न देख तू
इधर उधर न देख तू
Shivkumar Bilagrami
Loading...