Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Nov 2023 · 1 min read

#डॉ अरुण कुमार शास्त्री

#डॉ अरुण कुमार शास्त्री
मैंने सुना है कि कन्यादान और रक्तदान पारिवारिक व सामाजिक जीवन में उत्तम कार्य होते हैं । लेकिन आपने समयदान के बारे में नहीं सुना होगा क्योंकि यदि समय रहते समयदान नहीं किया गया तो सम्पूर्ण जीवन की उपादेयता नष्ट हो जाती है ।

147 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from DR ARUN KUMAR SHASTRI
View all
You may also like:
मां शारदे वंदना
मां शारदे वंदना
Neeraj Agarwal
कविता
कविता
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मेरा आसमां 🥰
मेरा आसमां 🥰
DR ARUN KUMAR SHASTRI
#आज_का_कटाक्ष
#आज_का_कटाक्ष
*प्रणय प्रभात*
लोहा ही नहीं धार भी उधार की उनकी
लोहा ही नहीं धार भी उधार की उनकी
Dr MusafiR BaithA
न जाने क्या ज़माना चाहता है
न जाने क्या ज़माना चाहता है
Dr. Alpana Suhasini
नीला अम्बर नील सरोवर
नीला अम्बर नील सरोवर
डॉ. शिव लहरी
*रामराज्य में सब सुखी, सबके धन-भंडार (कुछ दोहे)*
*रामराज्य में सब सुखी, सबके धन-भंडार (कुछ दोहे)*
Ravi Prakash
रमेशराज के बालमन पर आधारित बालगीत
रमेशराज के बालमन पर आधारित बालगीत
कवि रमेशराज
सबक ज़िंदगी पग-पग देती, इसके खेल निराले हैं।
सबक ज़िंदगी पग-पग देती, इसके खेल निराले हैं।
आर.एस. 'प्रीतम'
"किसी के लिए"
Dr. Kishan tandon kranti
जब बातेंं कम हो जाती है अपनों की,
जब बातेंं कम हो जाती है अपनों की,
Dr. Man Mohan Krishna
✍️ शेखर सिंह
✍️ शेखर सिंह
शेखर सिंह
उम्मींदें तेरी हमसे
उम्मींदें तेरी हमसे
Dr fauzia Naseem shad
2704.*पूर्णिका*
2704.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
खरगोश
खरगोश
SHAMA PARVEEN
दस्तक भूली राह दरवाजा
दस्तक भूली राह दरवाजा
Suryakant Dwivedi
कहने को हर हाथ में,
कहने को हर हाथ में,
sushil sarna
🥀*अज्ञानीकी कलम*🥀
🥀*अज्ञानीकी कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
नाजुक देह में ज्वाला पनपे
नाजुक देह में ज्वाला पनपे
कवि दीपक बवेजा
चन्द ख्वाब
चन्द ख्वाब
Kshma Urmila
बोलो राम राम
बोलो राम राम
नेताम आर सी
जरूरी तो नहीं
जरूरी तो नहीं
Awadhesh Singh
जाने इतनी बेहयाई तुममें कहां से आई है ,
जाने इतनी बेहयाई तुममें कहां से आई है ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
लौट  आते  नहीं  अगर  बुलाने   के   बाद
लौट आते नहीं अगर बुलाने के बाद
Anil Mishra Prahari
प्रायश्चित
प्रायश्चित
Shyam Sundar Subramanian
हौसले हमारे ....!!!
हौसले हमारे ....!!!
Kanchan Khanna
महफिले लूट गया शोर शराबे के बगैर। कर गया सबको ही माइल वह तमाशे के बगैर। ❤️
महफिले लूट गया शोर शराबे के बगैर। कर गया सबको ही माइल वह तमाशे के बगैर। ❤️
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
लेखनी को श्रृंगार शालीनता ,मधुर्यता और शिष्टाचार से संवारा ज
लेखनी को श्रृंगार शालीनता ,मधुर्यता और शिष्टाचार से संवारा ज
DrLakshman Jha Parimal
किस्मत का लिखा होता है किसी से इत्तेफाकन मिलना या किसी से अच
किस्मत का लिखा होता है किसी से इत्तेफाकन मिलना या किसी से अच
पूर्वार्थ
Loading...