Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Jun 2023 · 1 min read

ठग विद्या, कोयल, सवर्ण और श्रमण / मुसाफ़िर बैठा

सवर्ण कोयल हैं हम श्रमण काग
वे ठगते रहे हैं हमें हम ठगाते
वे परजीवी हैं हम उनके दाना पानी।
हमारे घोंसलों में वे अपने अंडे डाल
डाल हमें विभ्रम में
अपने अंडे मुफ्त में हमसे सेववाते रहे हैं
लाठी-बल से ही नहीं केवल
झाँसा दे भी बेगार करवाते रहे हैं
हमारी सेवा से बने चूजे उनके
अंडे से निकलते ही हमें
आँख दिखाते रहे हैं चिढ़ाते रहे हैं
सभ्यता का पाठ पढ़ाते रहे हैं

ठग विद्या गोया
मीठी है
सवर्णी है
अपने मूल में!

276 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr MusafiR BaithA
View all
You may also like:
इसकी औक़ात
इसकी औक़ात
Dr fauzia Naseem shad
अनगढ आवारा पत्थर
अनगढ आवारा पत्थर
Mr. Rajesh Lathwal Chirana
खूबसूरती
खूबसूरती
Ritu Asooja
लंबा सफ़र
लंबा सफ़र
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
National YOUTH Day
National YOUTH Day
Tushar Jagawat
वो इश्क की गली का
वो इश्क की गली का
साहित्य गौरव
"आपके पास यदि धार्मिक अंधविश्वास के विरुद्ध रचनाएँ या विचार
Dr MusafiR BaithA
आशा
आशा
नवीन जोशी 'नवल'
-- अंधभक्ति का चैम्पियन --
-- अंधभक्ति का चैम्पियन --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
खेत रोता है
खेत रोता है
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
जिंदगी में एक रात ऐसे भी आएगी जिसका कभी सुबह नहीं होगा ll
जिंदगी में एक रात ऐसे भी आएगी जिसका कभी सुबह नहीं होगा ll
Ranjeet kumar patre
जहर मिटा लो दर्शन कर के नागेश्वर भगवान के।
जहर मिटा लो दर्शन कर के नागेश्वर भगवान के।
सत्य कुमार प्रेमी
■ आज का शेर दिल की दुनिया से।।
■ आज का शेर दिल की दुनिया से।।
*प्रणय प्रभात*
2697.*पूर्णिका*
2697.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
खोल नैन द्वार माँ।
खोल नैन द्वार माँ।
लक्ष्मी सिंह
नहीं रखा अंदर कुछ भी दबा सा छुपा सा
नहीं रखा अंदर कुछ भी दबा सा छुपा सा
Rekha Drolia
युद्ध
युद्ध
Shashi Mahajan
জপ জপ কালী নাম জপ জপ দুর্গা নাম
জপ জপ কালী নাম জপ জপ দুর্গা নাম
Arghyadeep Chakraborty
#drarunkumarshastri
#drarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
क्या हो, अगर कोई साथी न हो?
क्या हो, अगर कोई साथी न हो?
Vansh Agarwal
भौतिक युग की सम्पदा,
भौतिक युग की सम्पदा,
sushil sarna
*सुंदर भरत चरित्र (कुंडलिया)*
*सुंदर भरत चरित्र (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मुहब्बत
मुहब्बत
अखिलेश 'अखिल'
"जीवन"
Dr. Kishan tandon kranti
रससिद्धान्त मूलतः अर्थसिद्धान्त पर आधारित
रससिद्धान्त मूलतः अर्थसिद्धान्त पर आधारित
कवि रमेशराज
माँ की यादें
माँ की यादें
मनोज कर्ण
बंदर मामा
बंदर मामा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
बेटी ही बेटी है सबकी, बेटी ही है माँ
बेटी ही बेटी है सबकी, बेटी ही है माँ
Anand Kumar
खुश होगा आंधकार भी एक दिन,
खुश होगा आंधकार भी एक दिन,
goutam shaw
इश्क़ में ज़हर की ज़रूरत नहीं है बे यारा,
इश्क़ में ज़हर की ज़रूरत नहीं है बे यारा,
शेखर सिंह
Loading...