Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-441💐

झुकेगा नहीं ये आसमाँ,मेरे इश्क़ की बराबर,
वो दिल में ही अच्छे हैं,मेरे इश्क़ की बराबर,
गर अलहदा इक मुलाक़ात पर करूँ मशवरा,
उनका भी लिहाज़ है हमें,मेरे इश्क़ की बराबर।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
30 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
"साड़ी"
Dr. Kishan tandon kranti
ऐसा लगता है कि
ऐसा लगता है कि
*Author प्रणय प्रभात*
आज फिर गणतंत्र दिवस का
आज फिर गणतंत्र दिवस का
gurudeenverma198
मन के पार
मन के पार
Dr. Rajiv
इन रास्तों को मंजूर था ये सफर मेरा
इन रास्तों को मंजूर था ये सफर मेरा
'अशांत' शेखर
पवनसुत
पवनसुत
सिद्धार्थ गोरखपुरी
*ले औषधि संजीवनी, आए रातों-रात (कुछ दोहे)*
*ले औषधि संजीवनी, आए रातों-रात (कुछ दोहे)*
Ravi Prakash
ऐसा खेलना होली तुम अपनों के संग ,
ऐसा खेलना होली तुम अपनों के संग ,
कवि दीपक बवेजा
बेटियां एक सहस
बेटियां एक सहस
तरुण सिंह पवार
माँ तस्वीर नहीं, माँ तक़दीर है…
माँ तस्वीर नहीं, माँ तक़दीर है…
Anand Kumar
रास्ते फूँक -फूँककर चलता  है
रास्ते फूँक -फूँककर चलता है
Anil Mishra Prahari
माना कि दुनिया बहुत बुरी है
माना कि दुनिया बहुत बुरी है
Shekhar Chandra Mitra
साधक
साधक
सतीश तिवारी 'सरस'
एक नेता
एक नेता
पंकज कुमार कर्ण
💐प्रेम कौतुक-258💐
💐प्रेम कौतुक-258💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तन्हाई
तन्हाई
Sidhartha Mishra
उपहार
उपहार
Satish Srijan
*
*"गंगा"*
Shashi kala vyas
अधूरा इश्क़
अधूरा इश्क़
Shyam Pandey
Sunny Yadav - Actor & Model
Sunny Yadav - Actor & Model
Sunny Yadav
रात बदरिया...
रात बदरिया...
डॉ.सीमा अग्रवाल
बड़ा मायूस बेचारा लगा वो।
बड़ा मायूस बेचारा लगा वो।
सत्य कुमार प्रेमी
“निर्जीव हम बनल छी”
“निर्जीव हम बनल छी”
DrLakshman Jha Parimal
अब तो आओ न
अब तो आओ न
Arti Bhadauria
सभ प्रभु केऽ माया थिक...
सभ प्रभु केऽ माया थिक...
मनोज कर्ण
चिड़िया चली गगन आंकने
चिड़िया चली गगन आंकने
AMRESH KUMAR VERMA
कैसी पूजा फिर कैसी इबादत आपकी
कैसी पूजा फिर कैसी इबादत आपकी
Dr fauzia Naseem shad
मेरी पायल की वो प्यारी सी तुम झंकार जैसे हो,
मेरी पायल की वो प्यारी सी तुम झंकार जैसे हो,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
इश्क़ का दस्तूर
इश्क़ का दस्तूर
VINOD KUMAR CHAUHAN
व्यस्तता जीवन में होता है,
व्यस्तता जीवन में होता है,
Buddha Prakash
Loading...