Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Apr 2018 · 1 min read

जो सोचते हैं जग भला,तो हुआ उनका भला,

जो सोचते हैं जग भला,तो हुआ उनका भला,
मन मिलेंगे दूर होगा, दूरियों का सिलसिला l
आपसी सद भाव का जो पाठ पढ़ते सर्वदा,
देश हित में सोचते, सम्मान उनको ही मिला l

Language: Hindi
215 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
चांद शेर
चांद शेर
Bodhisatva kastooriya
"इन्तेहा" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
प्रेम - एक लेख
प्रेम - एक लेख
बदनाम बनारसी
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
LEAVE
LEAVE
SURYA PRAKASH SHARMA
इम्तहान दे कर थक गया , मैं इस जमाने को ,
इम्तहान दे कर थक गया , मैं इस जमाने को ,
Neeraj Mishra " नीर "
लिप्सा-स्वारथ-द्वेष में, गिरे कहाँ तक लोग !
लिप्सा-स्वारथ-द्वेष में, गिरे कहाँ तक लोग !
डॉ.सीमा अग्रवाल
छोटी सी दुनिया
छोटी सी दुनिया
shabina. Naaz
*जन्म लिया है बेटी ने तो, दुगनी खुशी मनाऍं (गीत)*
*जन्म लिया है बेटी ने तो, दुगनी खुशी मनाऍं (गीत)*
Ravi Prakash
भारत का चाँद…
भारत का चाँद…
Anand Kumar
राना लिधौरी के बुंदेली दोहे बिषय-खिलकट (झिक्की)
राना लिधौरी के बुंदेली दोहे बिषय-खिलकट (झिक्की)
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
उमर भर की जुदाई
उमर भर की जुदाई
Shekhar Chandra Mitra
खाली पैमाना
खाली पैमाना
ओनिका सेतिया 'अनु '
नूतन सद्आचार मिल गया
नूतन सद्आचार मिल गया
Pt. Brajesh Kumar Nayak
वैशाख की धूप
वैशाख की धूप
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
अगर मुझे तड़पाना,
अगर मुझे तड़पाना,
Dr. Man Mohan Krishna
जन्म दिवस
जन्म दिवस
Aruna Dogra Sharma
कामयाबी का
कामयाबी का
Dr fauzia Naseem shad
"अदा"
Dr. Kishan tandon kranti
आने वाले कल का ना इतना इंतजार करो ,
आने वाले कल का ना इतना इंतजार करो ,
Neerja Sharma
बगिया
बगिया
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
GOOD EVENING....…
GOOD EVENING....…
Neeraj Agarwal
भीतर का तूफान
भीतर का तूफान
Sandeep Pande
पहचान धूर्त की
पहचान धूर्त की
विक्रम कुमार
आया बाढ नग पहाड़ पे🌷✍️
आया बाढ नग पहाड़ पे🌷✍️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
*पीड़ा*
*पीड़ा*
Dr. Priya Gupta
यदि  हम विवेक , धैर्य और साहस का साथ न छोडे़ं तो किसी भी विप
यदि हम विवेक , धैर्य और साहस का साथ न छोडे़ं तो किसी भी विप
Raju Gajbhiye
आज, नदी क्यों इतना उदास है.....?
आज, नदी क्यों इतना उदास है.....?
VEDANTA PATEL
हिन्दुस्तान जहाँ से अच्छा है
हिन्दुस्तान जहाँ से अच्छा है
Dinesh Kumar Gangwar
सबकी जात कुजात
सबकी जात कुजात
मानक लाल मनु
Loading...