Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Feb 2023 · 1 min read

जैसे तुम हो _ वैसे हम है,

जैसे तुम हो _ वैसे हम है,
मानव _ मानव एक समान।
बात मेरी तुम याद यह रखना,
न करना किसी का भी अपमान।।
सभी को मेरा प्रणाम_ सभी को मेरा प्रणाम।

1 Like · 547 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मैं तो महज आवाज हूँ
मैं तो महज आवाज हूँ
VINOD CHAUHAN
महाप्रयाण
महाप्रयाण
Shyam Sundar Subramanian
मैं नहीं कहती
मैं नहीं कहती
Dr.Pratibha Prakash
23/20.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/20.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
एक गुलाब हो
एक गुलाब हो
हिमांशु Kulshrestha
नित्य करते जो व्यायाम ,
नित्य करते जो व्यायाम ,
Kumud Srivastava
केहिकी करैं बुराई भइया,
केहिकी करैं बुराई भइया,
Kaushal Kumar Pandey आस
मैं भी कोई प्रीत करूँ....!
मैं भी कोई प्रीत करूँ....!
singh kunwar sarvendra vikram
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
Gatha ek naari ki
Gatha ek naari ki
Sonia Yadav
पितर पाख
पितर पाख
Mukesh Kumar Sonkar
पुष्प
पुष्प
इंजी. संजय श्रीवास्तव
मईया रानी
मईया रानी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
“छोटा उस्ताद ” ( सैनिक संस्मरण )
“छोटा उस्ताद ” ( सैनिक संस्मरण )
DrLakshman Jha Parimal
*जिसका सुंदर स्वास्थ्य जगत में, केवल वह धनवान है (हिंदी गजल)
*जिसका सुंदर स्वास्थ्य जगत में, केवल वह धनवान है (हिंदी गजल)
Ravi Prakash
मन की किताब
मन की किताब
Neeraj Agarwal
......मंजिल का रास्ता....
......मंजिल का रास्ता....
Naushaba Suriya
मिलती बड़े नसीब से , अपने हक की धूप ।
मिलती बड़े नसीब से , अपने हक की धूप ।
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
🌳 *पेड़* 🌳
🌳 *पेड़* 🌳
Dhirendra Singh
रक्षाबंधन
रक्षाबंधन
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
वक़्त के साथ
वक़्त के साथ
Dr fauzia Naseem shad
■ तेवरी
■ तेवरी
*प्रणय प्रभात*
हम में,तुम में दूरी क्यू है
हम में,तुम में दूरी क्यू है
Keshav kishor Kumar
शून्य हो रही संवेदना को धरती पर फैलाओ
शून्य हो रही संवेदना को धरती पर फैलाओ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बस यूं बहक जाते हैं तुझे हर-सम्त देखकर,
बस यूं बहक जाते हैं तुझे हर-सम्त देखकर,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
कन्या
कन्या
Bodhisatva kastooriya
आज जिंदगी को प्रपोज़ किया और कहा -
आज जिंदगी को प्रपोज़ किया और कहा -
सिद्धार्थ गोरखपुरी
अश्रु
अश्रु
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
माँ
माँ
Dr Archana Gupta
बचपन
बचपन
Kanchan Khanna
Loading...