Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Mar 2023 · 1 min read

जैसे जैसे उम्र गुज़रे / ज़िन्दगी का रंग उतरे

जैसे जैसे उम्र गुज़रे / ज़िन्दगी का रंग उतरे
सोचता रहता हूँ तन्हा / मुझमें भीतर कौन बिखरे
साथ बहते आँसुओं में / खून के हैं चन्द कतरे
मन का पंछी चाहे उड़ना / पर दुखों ने पंख कुतरे
थक गया हूँ सहते सहते / ज़िन्दगी में तेरे नखरे
नष्ट होते इस जहां में / कौन कब तक यार ठहरे
महावीर उत्तरांचली

1 Like · 270 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
View all
You may also like:
बदन खुशबुओं से महकाना छोड़ दे
बदन खुशबुओं से महकाना छोड़ दे
कवि दीपक बवेजा
*जाते हैं जग से सभी, राजा-रंक समान (कुंडलिया)*
*जाते हैं जग से सभी, राजा-रंक समान (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
कचनार
कचनार
Mohan Pandey
Who am I?
Who am I?
R. H. SRIDEVI
युवा कवि नरेन्द्र वाल्मीकि की समाज को प्रेरित करने वाली कविता
युवा कवि नरेन्द्र वाल्मीकि की समाज को प्रेरित करने वाली कविता
Dr. Narendra Valmiki
वक्त
वक्त
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
प्यार
प्यार
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
The greatest luck generator - show up
The greatest luck generator - show up
पूर्वार्थ
#डॉ अरूण कुमार शास्त्री
#डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ज़िंदगी को इस तरह
ज़िंदगी को इस तरह
Dr fauzia Naseem shad
माँ दे - दे वरदान ।
माँ दे - दे वरदान ।
Anil Mishra Prahari
2985.*पूर्णिका*
2985.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कड़वाहट के मूल में,
कड़वाहट के मूल में,
sushil sarna
तेरी ख़ुशबू
तेरी ख़ुशबू
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
हारो बेशक कई बार,हार के आगे झुको नहीं।
हारो बेशक कई बार,हार के आगे झुको नहीं।
Neelam Sharma
आज की जरूरत~
आज की जरूरत~
दिनेश एल० "जैहिंद"
जय जय हिन्दी
जय जय हिन्दी
gurudeenverma198
लोकतंत्र का खेल
लोकतंत्र का खेल
Anil chobisa
सोशल मीडिया पर दूसरे के लिए लड़ने वाले एक बार ज़रूर पढ़े…
सोशल मीडिया पर दूसरे के लिए लड़ने वाले एक बार ज़रूर पढ़े…
Anand Kumar
चाहता है जो
चाहता है जो
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
मैं कौन हूँ
मैं कौन हूँ
Sukoon
तुमको कुछ दे नहीं सकूँगी
तुमको कुछ दे नहीं सकूँगी
Shweta Soni
जय भवानी, जय शिवाजी!
जय भवानी, जय शिवाजी!
Kanchan Alok Malu
शिवाजी गुरु स्वामी समर्थ रामदास – भाग-01
शिवाजी गुरु स्वामी समर्थ रामदास – भाग-01
Sadhavi Sonarkar
"घर बनाने के लिए"
Dr. Kishan tandon kranti
वो कालेज वाले दिन
वो कालेज वाले दिन
Akash Yadav
मोहब्बत में इतना सताया है तूने।
मोहब्बत में इतना सताया है तूने।
Phool gufran
"लोकगीत" (छाई देसवा पे महंगाई ऐसी समया आई राम)
Slok maurya "umang"
दोहा
दोहा
गुमनाम 'बाबा'
पहली नजर का जादू दिल पे आज भी है
पहली नजर का जादू दिल पे आज भी है
VINOD CHAUHAN
Loading...