Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Oct 2016 · 1 min read

जीवन साथी

जीवन साथी

जीवन का सबसे अनमोल रतन ,
जन्म से नाता न होकर भी
है कितना उसमें अपनापन ।
अपने सुख दुख जिससे बाँट सके
मन की उलझन सब सुलझा सके ,
जीवन के उतार चढ़ावों का
निज जीवन में आए तूफानों का
सिर्फ वही साक्षी है प्रत्यक्ष ।
जीवन का सबसे अनमोल रतन ।
ऐसा अनमोल उपहार है वो
जिस पर जरा आघात भी हो
वह आघात स्वयं पर लगता है
जब कुछ पल को भी वो
कहीं करे गमन ,
रिक्त हो जाते हैं ये
मन और सदन ।
जीवन का सबसे अनमोल रतन ।
चाहे कितना वाद विवाद करें
फिर भी एक दूजे से ही
फरियाद करें ,
ये ही एक ऐसा रिश्ता है
जिसने साथ निभाने को
लिए हैं अमूल्य सात वचन ।
जीवन का सबसे अनमोल रतन ।

डॉ रीता
आया नगर , नई दिल्ली- 47

Language: Hindi
1024 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Rita Singh
View all
You may also like:
ना जाने कौन सी डिग्रियाँ है तुम्हारे पास
ना जाने कौन सी डिग्रियाँ है तुम्हारे पास
Gouri tiwari
एक कविता उनके लिए
एक कविता उनके लिए
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
रमेशराज के साम्प्रदायिक सद्भाव के गीत
रमेशराज के साम्प्रदायिक सद्भाव के गीत
कवि रमेशराज
जब किसी बज़्म तेरी बात आई ।
जब किसी बज़्म तेरी बात आई ।
Neelam Sharma
दुर्लभ हुईं सात्विक विचारों की श्रृंखला
दुर्लभ हुईं सात्विक विचारों की श्रृंखला
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
वो किताब अब भी जिन्दा है।
वो किताब अब भी जिन्दा है।
दुर्गा प्रसाद नाग
दोहा
दोहा
गुमनाम 'बाबा'
"गंगा माँ बड़ी पावनी"
Ekta chitrangini
तन माटी का
तन माटी का
Neeraj Agarwal
- ଓଟେରି ସେଲଭା କୁମାର
- ଓଟେରି ସେଲଭା କୁମାର
Otteri Selvakumar
खुशियों की डिलीवरी
खुशियों की डिलीवरी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
देश हमारा भारत प्यारा
देश हमारा भारत प्यारा
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
जल सिंधु नहीं तुम शब्द सिंधु हो।
जल सिंधु नहीं तुम शब्द सिंधु हो।
कार्तिक नितिन शर्मा
यादें
यादें
Dipak Kumar "Girja"
*मन  में  पर्वत  सी पीर है*
*मन में पर्वत सी पीर है*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
"सिक्का"
Dr. Kishan tandon kranti
बैठा के पास पूंछ ले कोई हाल मेरा
बैठा के पास पूंछ ले कोई हाल मेरा
शिव प्रताप लोधी
Decision making is backed by hardwork and courage but to cha
Decision making is backed by hardwork and courage but to cha
Sanjay ' शून्य'
నా గ్రామం..
నా గ్రామం..
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
जीवन में
जीवन में
Dr fauzia Naseem shad
शिव का सरासन  तोड़  रक्षक हैं  बने  श्रित मान की।
शिव का सरासन तोड़ रक्षक हैं बने श्रित मान की।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
आसमान तक पहुंचे हो धरती पर हो पांव
आसमान तक पहुंचे हो धरती पर हो पांव
नूरफातिमा खातून नूरी
2772. *पूर्णिका*
2772. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
God is Almighty
God is Almighty
DR ARUN KUMAR SHASTRI
पल पल रंग बदलती है दुनिया
पल पल रंग बदलती है दुनिया
Ranjeet kumar patre
जवाला
जवाला
भरत कुमार सोलंकी
बात न बनती युद्ध से, होता बस संहार।
बात न बनती युद्ध से, होता बस संहार।
डॉ.सीमा अग्रवाल
" धरती का क्रोध "
Saransh Singh 'Priyam'
*हमेशा जिंदगी की एक, सी कब चाल होती है (हिंदी गजल)*
*हमेशा जिंदगी की एक, सी कब चाल होती है (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
सब विश्वास खोखले निकले सभी आस्थाएं झूठीं
सब विश्वास खोखले निकले सभी आस्थाएं झूठीं
Ravi Ghayal
Loading...