Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Jul 2023 · 1 min read

*जीवन की शाम (चार दोहे)*

जीवन की शाम (चार दोहे)
________________________
(1)
दो बूढ़े घर में बचे, बच्चे बसे विदेश
सुख के साधन हैं सभी, मन में लेकिन क्लेश
(2)
वृद्धाश्रम बढ़िया बना, वाह-वाह चहुॅं ओर
किसे पता रजनी घिरी, या फिर उजली भोर
(3)
मोबाइल पर रोज ही, पोते करते बात
मुख देखे बरसों हुए, यह ही हृदयाघात
(4)
उनका ही जीवन सुखी, उनका घर सुख-धाम
‘जय कृष्णा बाबा’ कहें, जहॉं पौत्र अविराम
_________________________
रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर (उत्तर प्रदेश)
मोबाइल 99976 15451

Language: Hindi
395 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
तुलसी चंदन हार हो, या माला रुद्राक्ष
तुलसी चंदन हार हो, या माला रुद्राक्ष
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
विजय हजारे
विजय हजारे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Next
Next
Rajan Sharma
फ़ितरत-ए-धूर्त
फ़ितरत-ए-धूर्त
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
24/229. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
24/229. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
उसका शुक्र कितना भी करूँ
उसका शुक्र कितना भी करूँ
shabina. Naaz
मेरी औकात
मेरी औकात
साहित्य गौरव
मैं तो महज संसार हूँ
मैं तो महज संसार हूँ
VINOD CHAUHAN
बाल गीत
बाल गीत "लंबू चाचा आये हैं"
अटल मुरादाबादी, ओज व व्यंग कवि
Happy Father's Day
Happy Father's Day
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
आजाद पंछी
आजाद पंछी
Ritu Asooja
मां
मां
Dheerja Sharma
!! दूर रहकर भी !!
!! दूर रहकर भी !!
Chunnu Lal Gupta
ये नफरत बुरी है ,न पालो इसे,
ये नफरत बुरी है ,न पालो इसे,
Ranjeet kumar patre
5 किलो मुफ्त के राशन का थैला हाथ में लेकर खुद को विश्वगुरु क
5 किलो मुफ्त के राशन का थैला हाथ में लेकर खुद को विश्वगुरु क
शेखर सिंह
जब आपके आस पास सच बोलने वाले न बचे हों, तो समझिए आस पास जो भ
जब आपके आस पास सच बोलने वाले न बचे हों, तो समझिए आस पास जो भ
Sanjay ' शून्य'
श्रेष्ठ बंधन
श्रेष्ठ बंधन
Dr. Mulla Adam Ali
बे फिकर होके मैं सो तो जाऊं
बे फिकर होके मैं सो तो जाऊं
Shashank Mishra
बदल गए तुम
बदल गए तुम
Kumar Anu Ojha
What consumes your mind controls your life
What consumes your mind controls your life
पूर्वार्थ
खुद से मुहब्बत
खुद से मुहब्बत
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
तेरे बिना
तेरे बिना
DR ARUN KUMAR SHASTRI
शिव शंभू भोला भंडारी !
शिव शंभू भोला भंडारी !
Bodhisatva kastooriya
बहुत कुछ बोल सकता हु,
बहुत कुछ बोल सकता हु,
Awneesh kumar
"कवियों की हालत"
Dr. Kishan tandon kranti
जो धधक रहे हैं ,दिन - रात मेहनत की आग में
जो धधक रहे हैं ,दिन - रात मेहनत की आग में
Keshav kishor Kumar
होंगे ही जीवन में संघर्ष विध्वंसक...!!!!
होंगे ही जीवन में संघर्ष विध्वंसक...!!!!
Jyoti Khari
हिंदू कट्टरवादिता भारतीय सभ्यता पर इस्लाम का प्रभाव है
हिंदू कट्टरवादिता भारतीय सभ्यता पर इस्लाम का प्रभाव है
Utkarsh Dubey “Kokil”
सुनो सखी !
सुनो सखी !
Manju sagar
Loading...