Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Jun 2016 · 1 min read

जीत तय हुआ

जीत तय हुआ …..
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
प्रातः विहग चहक सुन सुन कर
जग जीवन संगीत मय हुआ ।
सामष्टिक नूतनता लेकर
नव जीवन का गीत तय हुआ ।।

मंद सुगन्धित पवन के झौंके
आत्मा को पुलकित कर जाती ।
सृष्टि की नीरवता लेकर
आज नया एक रीत तय हुआ ।।

मन उर और ऊर्जा के मिलन का
अत्यन्तिम एक भीत तय हुआ ।
नया जोश लेकर दुनियाँ में
न्याय धर्म और प्रीत तय हुआ ।।

अपनेपन से ओत प्रोत सब
सत्य न्याय की भीड़ तय हुआ ।
अद्भुत कुछ प्रस्ताव को लेकर
न्याय रूपी अमृत तय हुआ ।।

न्याय ही तो जीवन्त धर्म है
न्याय धर्म का मीत तय हुआ ।
बिन शास्त्रों से ही दुनियाँ में
अन्यायों पर जीत तय हुआ ।।

सामरिक अरुण
NDS झारखण्ड
06/04/2016
www.nyayadharmsabha.org

Language: Hindi
Tag: कविता
196 Views
You may also like:
डॉ.अंबेडकर
Shekhar Chandra Mitra
शुभ स्वतंत्रता दिवस मनाए
Pt. Brajesh Kumar Nayak
बालिका दिवस
Satish Srijan
गणेश चतुर्थी
आचार्य श्रीराम पाण्डेय
तुम्हारी यादें
Dr. Sunita Singh
नफरत के कांटे
shabina. Naaz
मैथिली भाषा/साहित्यमे समस्या आ समाधान
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
उम्मीदों का सूरज
Shoaib Khan
जन्म दिन का खास तोहफ़ा।
Taj Mohammad
हिन्दी
Saraswati Bajpai
मां
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
ग़ज़ल
प्रीतम श्रावस्तवी
मुझको कबतक रोकोगे
Abhishek Pandey Abhi
✴️✳️⚜️वो पगड़ी सजाए हुए हैं⚜️✳️✴️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
वचन मांग लो, मौन न ओढ़ो
Shiva Awasthi
■ आज की अपील
*Author प्रणय प्रभात*
मुझसा प्यार नहीं मिलेगा
gurudeenverma198
*** चल अकेला.......!!! ***
VEDANTA PATEL
आया यह मृदु - गीत कहाँ से!
Anil Mishra Prahari
✍️हाथ के सारे तिरंगे ऊँचे लहराये..!✍️
'अशांत' शेखर
इतना मत लिखा करो
सूर्यकांत द्विवेदी
प्रात काल की शुद्ध हवा
लक्ष्मी सिंह
“अवसर” खोजें, पहचाने और लाभ उठायें
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
मन की कसक
पंछी प्रगति
उठो युवा तुम उठो ऐसे/Uthao youa tum uthao aise
Shivraj Anand
नित नए संघर्ष करो (मजदूर दिवस)
श्री रमण 'श्रीपद्'
ये दिल
Dr fauzia Naseem shad
वृंदावन की यात्रा (लेख/यात्रा वृत्तांत)
Ravi Prakash
एक प्यार ऐसा भी /लवकुश यादव "अज़ल"
लवकुश यादव "अज़ल"
ख़्वाब
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Loading...