Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Feb 2023 · 1 min read

जिस रास्ते के आगे आशा की कोई किरण नहीं जाती थी

जिस रास्ते के आगे आशा की कोई किरण नहीं जाती थी
मीलों सफर तय किया है उम्मीदों के सहारे चलते चलते,

लौट जाना ही अब मुनासिब रहेगा उन गलियों से सरल
तमाम उम्र विताई है हमने यहाँ लिबास बदलते बदलते !

✍कवि दीपक सरल

2 Likes · 394 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ये जाति और ये मजहब दुकान थोड़ी है।
ये जाति और ये मजहब दुकान थोड़ी है।
सत्य कुमार प्रेमी
*मायापति को नचा रही, सोने के मृग की माया (गीत)*
*मायापति को नचा रही, सोने के मृग की माया (गीत)*
Ravi Prakash
काव्य_दोष_(जिनको_दोहा_छंद_में_प्रमुखता_से_दूर_रखने_ का_ प्रयास_करना_चाहिए)*
काव्य_दोष_(जिनको_दोहा_छंद_में_प्रमुखता_से_दूर_रखने_ का_ प्रयास_करना_चाहिए)*
Subhash Singhai
जनक देश है महान
जनक देश है महान
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
मकर संक्रांति पर्व
मकर संक्रांति पर्व
Seema gupta,Alwar
प्रेत बाधा एव वास्तु -ज्योतिषीय शोध लेख
प्रेत बाधा एव वास्तु -ज्योतिषीय शोध लेख
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
भए प्रगट कृपाला, दीनदयाला,
भए प्रगट कृपाला, दीनदयाला,
Shashi kala vyas
मैं बेटी हूँ
मैं बेटी हूँ
लक्ष्मी सिंह
Just a duty-bound Hatred | by Musafir Baitha
Just a duty-bound Hatred | by Musafir Baitha
Dr MusafiR BaithA
खुश होगा आंधकार भी एक दिन,
खुश होगा आंधकार भी एक दिन,
goutam shaw
मुर्दा समाज
मुर्दा समाज
Rekha Drolia
धुनी रमाई है तेरे नाम की
धुनी रमाई है तेरे नाम की
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
फ़ितरत का रहस्य
फ़ितरत का रहस्य
Buddha Prakash
अजीब सी बेताबी है
अजीब सी बेताबी है
शेखर सिंह
योग इक्कीस जून को,
योग इक्कीस जून को,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सास खोल देहली फाइल
सास खोल देहली फाइल
नूरफातिमा खातून नूरी
life is an echo
life is an echo
पूर्वार्थ
सफलता का बीज
सफलता का बीज
Dr. Kishan tandon kranti
चार दिनों की जिंदगी है, यूँ हीं गुज़र के रह जानी है...!!
चार दिनों की जिंदगी है, यूँ हीं गुज़र के रह जानी है...!!
Ravi Betulwala
बेटियां
बेटियां
Manu Vashistha
हम ये कैसा मलाल कर बैठे
हम ये कैसा मलाल कर बैठे
Dr fauzia Naseem shad
बिना मांगते ही खुदा से
बिना मांगते ही खुदा से
Shinde Poonam
होली के रंग
होली के रंग
Anju ( Ojhal )
शमशान और मैं l
शमशान और मैं l
सेजल गोस्वामी
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
रजा में राजी गर
रजा में राजी गर
Satish Srijan
गिरगिट को भी अब मात
गिरगिट को भी अब मात
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
■ आज की ग़ज़ल
■ आज की ग़ज़ल
*Author प्रणय प्रभात*
नाहक करे मलाल....
नाहक करे मलाल....
डॉ.सीमा अग्रवाल
बुद्ध के बदले युद्ध
बुद्ध के बदले युद्ध
Shekhar Chandra Mitra
Loading...