Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Nov 2023 · 1 min read

इरशा

जिस तरह कीड़ा कपडों को कुतर डालता है।
उसी तरह इरशा और कलह मुनुष्य के मन को कुतर डालता है।।

1 Like · 116 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
पहला खत
पहला खत
Mamta Rani
मेरा तेरा जो प्यार है किसको खबर है आज तक।
मेरा तेरा जो प्यार है किसको खबर है आज तक।
सत्य कुमार प्रेमी
पल पल रंग बदलती है दुनिया
पल पल रंग बदलती है दुनिया
Ranjeet kumar patre
बाइस्कोप मदारी।
बाइस्कोप मदारी।
Satish Srijan
Ghazal
Ghazal
shahab uddin shah kannauji
व्यस्तता
व्यस्तता
Surya Barman
तेरा एहसास
तेरा एहसास
Dr fauzia Naseem shad
कभी - कभी सोचता है दिल कि पूछूँ उसकी माँ से,
कभी - कभी सोचता है दिल कि पूछूँ उसकी माँ से,
Madhuyanka Raj
अब तू किसे दोष देती है
अब तू किसे दोष देती है
gurudeenverma198
ବାତ୍ୟା ସ୍ଥିତି
ବାତ୍ୟା ସ୍ଥିତି
Otteri Selvakumar
मांओं को
मांओं को
Shweta Soni
देव-कृपा / कहानीकार : Buddhsharan Hans
देव-कृपा / कहानीकार : Buddhsharan Hans
Dr MusafiR BaithA
बंटते हिन्दू बंटता देश
बंटते हिन्दू बंटता देश
विजय कुमार अग्रवाल
*वरद हस्त सिर पर धरो*..सरस्वती वंदना
*वरद हस्त सिर पर धरो*..सरस्वती वंदना
Poonam Matia
अपेक्षा किसी से उतनी ही रखें
अपेक्षा किसी से उतनी ही रखें
Paras Nath Jha
जाति
जाति
Adha Deshwal
धीरज और संयम
धीरज और संयम
ओंकार मिश्र
*चलता रहेगा विश्व यह, हम नहीं होंगे मगर (वैराग्य गीत)*
*चलता रहेगा विश्व यह, हम नहीं होंगे मगर (वैराग्य गीत)*
Ravi Prakash
होली, नौराते, गणगौर,
होली, नौराते, गणगौर,
*प्रणय प्रभात*
" मैं कांटा हूँ, तूं है गुलाब सा "
Aarti sirsat
काली मां
काली मां
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
"आशिकी में"
Dr. Kishan tandon kranti
*बीमारी न छुपाओ*
*बीमारी न छुपाओ*
Dushyant Kumar
काश अभी बच्चा होता
काश अभी बच्चा होता
साहिल
नम आँखे
नम आँखे
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
23/56.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/56.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
नेमत, इबादत, मोहब्बत बेशुमार दे चुके हैं
नेमत, इबादत, मोहब्बत बेशुमार दे चुके हैं
हरवंश हृदय
याद आती हैं मां
याद आती हैं मां
Neeraj Agarwal
हैं सितारे डरे-डरे फिर से - संदीप ठाकुर
हैं सितारे डरे-डरे फिर से - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
खता कीजिए
खता कीजिए
surenderpal vaidya
Loading...