Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Feb 2023 · 1 min read

जिसे ये पता ही नहीं क्या मोहब्बत

जिसे ये पता ही नहीं क्या मोहब्बत
उसे रात दिन मैं वफ़ा लिख रही हूँ
रंजना वर्मा’रैन’

2 Likes · 339 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
❤️🌺मेरी मां🌺❤️
❤️🌺मेरी मां🌺❤️
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
मुझे क्या मालूम था वह वक्त भी आएगा
मुझे क्या मालूम था वह वक्त भी आएगा
VINOD CHAUHAN
देश और जनता~
देश और जनता~
दिनेश एल० "जैहिंद"
अभी गनीमत है
अभी गनीमत है
शेखर सिंह
टूटकर जो बिखर जाते हैं मोती
टूटकर जो बिखर जाते हैं मोती
Sonam Puneet Dubey
अपनी क़ीमत
अपनी क़ीमत
Dr fauzia Naseem shad
बरसातें सबसे बुरीं (कुंडलिया )
बरसातें सबसे बुरीं (कुंडलिया )
Ravi Prakash
.हिदायत
.हिदायत
shabina. Naaz
"रात यूं नहीं बड़ी है"
ज़ैद बलियावी
#दिनांक:-19/4/2024
#दिनांक:-19/4/2024
Pratibha Pandey
मसला सिर्फ जुबान का हैं,
मसला सिर्फ जुबान का हैं,
ओसमणी साहू 'ओश'
🥀 #गुरु_चरणों_की_धूल 🥀
🥀 #गुरु_चरणों_की_धूल 🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
नींद
नींद
Kanchan Khanna
कितनी बार शर्मिंदा हुआ जाए,
कितनी बार शर्मिंदा हुआ जाए,
ओनिका सेतिया 'अनु '
इतना मत इठलाया कर इस जवानी पर
इतना मत इठलाया कर इस जवानी पर
Keshav kishor Kumar
ये बेटा तेरा मर जाएगा
ये बेटा तेरा मर जाएगा
Basant Bhagawan Roy
अपवाद
अपवाद
Dr. Kishan tandon kranti
कब मैंने चाहा सजन
कब मैंने चाहा सजन
लक्ष्मी सिंह
हम सा भी कोई मिल जाए सरेराह चलते,
हम सा भी कोई मिल जाए सरेराह चलते,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
23/78.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/78.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बेटियां
बेटियां
Ram Krishan Rastogi
जब जब भूलने का दिखावा किया,
जब जब भूलने का दिखावा किया,
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
■ आज का शेर-
■ आज का शेर-
*प्रणय प्रभात*
*लव इज लाईफ*
*लव इज लाईफ*
Dushyant Kumar
जिंदगी
जिंदगी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
प्रकृति
प्रकृति
Monika Verma
**ग़ज़ल: पापा के नाम**
**ग़ज़ल: पापा के नाम**
Dr Mukesh 'Aseemit'
कैसे?
कैसे?
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
रख लेना तुम सम्भाल कर
रख लेना तुम सम्भाल कर
Pramila sultan
कभी हैं भगवा कभी तिरंगा देश का मान बढाया हैं
कभी हैं भगवा कभी तिरंगा देश का मान बढाया हैं
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
Loading...