Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 May 2023 · 1 min read

जिसमें हर सांस

जिसमें हर सांस हो सज़ा जैसे ।
मुफ़लिसी, एक बददुआ जैसे ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
12 Likes · 128 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
" हैं पलाश इठलाये "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
काले काले बादल आयें
काले काले बादल आयें
Chunnu Lal Gupta
विकृत संस्कार पनपती बीज
विकृत संस्कार पनपती बीज
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
उड़ चल रे परिंदे....
उड़ चल रे परिंदे....
जगदीश लववंशी
सावन का महीना
सावन का महीना
Mukesh Kumar Sonkar
**बात बनते बनते बिगड़ गई**
**बात बनते बनते बिगड़ गई**
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
मेरी बातें दिल से न लगाया कर
मेरी बातें दिल से न लगाया कर
Manoj Mahato
जय श्रीकृष्ण -चंद दोहे
जय श्रीकृष्ण -चंद दोहे
Om Prakash Nautiyal
मेरा होकर मिलो
मेरा होकर मिलो
Mahetaru madhukar
चप्पलें
चप्पलें
Kanchan Khanna
मुझे सोते हुए जगते हुए
मुझे सोते हुए जगते हुए
*Author प्रणय प्रभात*
द्रोपदी फिर.....
द्रोपदी फिर.....
Kavita Chouhan
वचन दिवस
वचन दिवस
सत्य कुमार प्रेमी
पतझड़ और हम जीवन होता हैं।
पतझड़ और हम जीवन होता हैं।
Neeraj Agarwal
किसानों की दुर्दशा पर एक तेवरी-
किसानों की दुर्दशा पर एक तेवरी-
कवि रमेशराज
Love is not about material things. Love is not about years o
Love is not about material things. Love is not about years o
पूर्वार्थ
राजा-रानी अलविदा, अब जन की सरकार (कुंडलिया)
राजा-रानी अलविदा, अब जन की सरकार (कुंडलिया)
Ravi Prakash
अब और ढूंढने की ज़रूरत नहीं मुझे
अब और ढूंढने की ज़रूरत नहीं मुझे
Aadarsh Dubey
"बढ़"
Dr. Kishan tandon kranti
2449.पूर्णिका
2449.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
'मौन अभिव्यक्ति'
'मौन अभिव्यक्ति'
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
गौरी।
गौरी।
Acharya Rama Nand Mandal
हरिगीतिका छंद
हरिगीतिका छंद
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
माफ़ कर दो दीवाने को
माफ़ कर दो दीवाने को
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
-दीवाली मनाएंगे
-दीवाली मनाएंगे
Seema gupta,Alwar
हाँ ये सच है
हाँ ये सच है
Saraswati Bajpai
कुछ याद बन
कुछ याद बन
Dr fauzia Naseem shad
“BE YOURSELF TALENTED SO THAT PEOPLE APPRECIATE YOU THEMSELVES”
“BE YOURSELF TALENTED SO THAT PEOPLE APPRECIATE YOU THEMSELVES”
DrLakshman Jha Parimal
ऐसे थे पापा मेरे ।
ऐसे थे पापा मेरे ।
Kuldeep mishra (KD)
मुझको उनसे क्या मतलब है
मुझको उनसे क्या मतलब है
gurudeenverma198
Loading...