Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Jun 2023 · 1 min read

जिसके मन तृष्णा रहे, उपजे दुख सन्ताप।

जिसके मन तृष्णा रहे, उपजे दुख सन्ताप।
तड़पे जीवन में सदा, मिलता यह अभिशाप।।

231 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
🙏*गुरु चरणों की धूल*🙏
🙏*गुरु चरणों की धूल*🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
दर्दे दिल…….!
दर्दे दिल…….!
Awadhesh Kumar Singh
मेरा कल! कैसा है रे तू
मेरा कल! कैसा है रे तू
Arun Prasad
रिश्तों में पड़ी सिलवटें
रिश्तों में पड़ी सिलवटें
Surinder blackpen
" मुशाफिर हूँ "
Pushpraj Anant
अस्तित्व की पहचान
अस्तित्व की पहचान
Kanchan Khanna
.......,,
.......,,
शेखर सिंह
मैं हर रोज़ देखता हूं इक खूबसूरत सा सफ़र,
मैं हर रोज़ देखता हूं इक खूबसूरत सा सफ़र,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
2408.पूर्णिका🌹तुम ना बदलोगे🌹
2408.पूर्णिका🌹तुम ना बदलोगे🌹
Dr.Khedu Bharti
प्रकृति के स्वरूप
प्रकृति के स्वरूप
डॉ० रोहित कौशिक
राजस्थानी भाषा में
राजस्थानी भाषा में
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
माॅ॑ बहुत प्यारी बहुत मासूम होती है
माॅ॑ बहुत प्यारी बहुत मासूम होती है
VINOD CHAUHAN
"इसलिए जंग जरूरी है"
Dr. Kishan tandon kranti
इक्कीस मनकों की माला हमने प्रभु चरणों में अर्पित की।
इक्कीस मनकों की माला हमने प्रभु चरणों में अर्पित की।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
" वाई फाई में बसी सबकी जान "
Dr Meenu Poonia
वज़्न -- 2122 2122 212 अर्कान - फ़ाइलातुन फ़ाइलातुन फ़ाइलुन बह्र का नाम - बह्रे रमल मुसद्दस महज़ूफ़
वज़्न -- 2122 2122 212 अर्कान - फ़ाइलातुन फ़ाइलातुन फ़ाइलुन बह्र का नाम - बह्रे रमल मुसद्दस महज़ूफ़
Neelam Sharma
मन सोचता है...
मन सोचता है...
Harminder Kaur
संवेदना मर रही
संवेदना मर रही
Ritu Asooja
केवल पंखों से कभी,
केवल पंखों से कभी,
sushil sarna
राहों में उनके कांटे बिछा दिए
राहों में उनके कांटे बिछा दिए
Tushar Singh
खुद के हाथ में पत्थर,दिल शीशे की दीवार है।
खुद के हाथ में पत्थर,दिल शीशे की दीवार है।
Priya princess panwar
सरपरस्त
सरपरस्त
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
👌👌👌
👌👌👌
*प्रणय प्रभात*
* मुक्तक *
* मुक्तक *
surenderpal vaidya
नवरात्रि के आठवें दिन मां महागौरी की पूजा की जाती है और कन्य
नवरात्रि के आठवें दिन मां महागौरी की पूजा की जाती है और कन्य
Shashi kala vyas
आधी बीती जून, मिले गर्मी से राहत( कुंडलिया)
आधी बीती जून, मिले गर्मी से राहत( कुंडलिया)
Ravi Prakash
जय श्री गणेशा
जय श्री गणेशा
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
युवा शक्ति
युवा शक्ति
संजय कुमार संजू
कभी वैरागी ज़हन, हर पड़ाव से विरक्त किया करती है।
कभी वैरागी ज़हन, हर पड़ाव से विरक्त किया करती है।
Manisha Manjari
जब होंगे हम जुदा तो
जब होंगे हम जुदा तो
gurudeenverma198
Loading...