Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jan 2024 · 1 min read

जिसकी भी आप तलाश मे हैं, वह आपके अन्दर ही है।

जिसकी भी आप तलाश मे हैं, वह आपके अन्दर ही है।

149 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*राष्ट्रभाषा हिंदी और देशज शब्द*
*राष्ट्रभाषा हिंदी और देशज शब्द*
Subhash Singhai
बाद मुद्दत के हम मिल रहे हैं
बाद मुद्दत के हम मिल रहे हैं
Dr Archana Gupta
"तरबूज"
Dr. Kishan tandon kranti
बलिदानी सिपाही
बलिदानी सिपाही
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
The wrong partner in your life will teach you that you can d
The wrong partner in your life will teach you that you can d
पूर्वार्थ
सब कुछ खत्म नहीं होता
सब कुछ खत्म नहीं होता
Dr. Rajeev Jain
*राखी के धागे धवल, पावन परम पुनीत  (कुंडलिया)*
*राखी के धागे धवल, पावन परम पुनीत (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
नींद आने की
नींद आने की
हिमांशु Kulshrestha
बड़ी मुश्किल है
बड़ी मुश्किल है
Basant Bhagawan Roy
■ सच साबित हुआ अनुमान।
■ सच साबित हुआ अनुमान।
*Author प्रणय प्रभात*
ऊपर बने रिश्ते
ऊपर बने रिश्ते
विजय कुमार अग्रवाल
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
रोशनी का दरिया
रोशनी का दरिया
Rachana
बड़े मिनरल वाटर पी निहाल : उमेश शुक्ल के हाइकु
बड़े मिनरल वाटर पी निहाल : उमेश शुक्ल के हाइकु
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
बिना मांगते ही खुदा से
बिना मांगते ही खुदा से
Shinde Poonam
अनर्गल गीत नहीं गाती हूं!
अनर्गल गीत नहीं गाती हूं!
Mukta Rashmi
खुदाया करम इन पे इतना ही करना।
खुदाया करम इन पे इतना ही करना।
सत्य कुमार प्रेमी
कैसा होगा मेरा भविष्य मत पूछो यह मुझसे
कैसा होगा मेरा भविष्य मत पूछो यह मुझसे
gurudeenverma198
रमेशराज की एक हज़ल
रमेशराज की एक हज़ल
कवि रमेशराज
तन पर तन के रंग का,
तन पर तन के रंग का,
sushil sarna
I don't care for either person like or dislikes me
I don't care for either person like or dislikes me
Ankita Patel
सोशल मीडिया
सोशल मीडिया
Raju Gajbhiye
भारत कभी रहा होगा कृषि प्रधान देश
भारत कभी रहा होगा कृषि प्रधान देश
शेखर सिंह
अफसाना किसी का
अफसाना किसी का
surenderpal vaidya
कुछ ख़ुमारी बादलों को भी रही,
कुछ ख़ुमारी बादलों को भी रही,
manjula chauhan
राख के ढेर की गर्मी
राख के ढेर की गर्मी
Atul "Krishn"
"बचपन"
Tanveer Chouhan
बुंदेली दोहा प्रतियोगिता-150 से चुने हुए श्रेष्ठ 11 दोहे
बुंदेली दोहा प्रतियोगिता-150 से चुने हुए श्रेष्ठ 11 दोहे
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मनांतर🙏
मनांतर🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
2326.पूर्णिका
2326.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
Loading...