Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Oct 2022 · 1 min read

जिल्लेइलाही की सवारी

कलेजे से होकर
एक आरी निकलती है!
तब जाकर क़लम से
चिंगारी निकलती है!!
वह देखो,अवाम को
बुरी तरह रौंदती हुई!
अब जिल्लेइलाही की
सवारी निकलती है!!
#जनता #मज़दूर #प्रवासी #गरीब #हक
#जनता #महंगाई #दलित #आदिवासी
#पिछड़ा #महंगाई #बेरोजगारी #कटाक्ष
#कवि #शायर #गीतकार #क्रांतिकारी

136 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सब कुछ हो जब पाने को,
सब कुछ हो जब पाने को,
manjula chauhan
जीवनमंथन
जीवनमंथन
Shyam Sundar Subramanian
उसको भी प्यार की ज़रूरत है
उसको भी प्यार की ज़रूरत है
Aadarsh Dubey
जो चाकर हैं राम के
जो चाकर हैं राम के
महेश चन्द्र त्रिपाठी
हिन्दी दिवस
हिन्दी दिवस
Ram Krishan Rastogi
बेबसी (शक्ति छन्द)
बेबसी (शक्ति छन्द)
नाथ सोनांचली
जो सुनना चाहता है
जो सुनना चाहता है
Yogendra Chaturwedi
बिन मांगे ही खुदा ने भरपूर दिया है
बिन मांगे ही खुदा ने भरपूर दिया है
हरवंश हृदय
क्या सीत्कार से पैदा हुए चीत्कार का नाम हिंदीग़ज़ल है?
क्या सीत्कार से पैदा हुए चीत्कार का नाम हिंदीग़ज़ल है?
कवि रमेशराज
क्यूँ करते हो तुम हम से हिसाब किताब......
क्यूँ करते हो तुम हम से हिसाब किताब......
shabina. Naaz
आ जाते हैं जब कभी, उमड़ घुमड़ घन श्याम।
आ जाते हैं जब कभी, उमड़ घुमड़ घन श्याम।
surenderpal vaidya
#कौन_देगा_जवाब??
#कौन_देगा_जवाब??
*Author प्रणय प्रभात*
हर बार नहीं मनाना चाहिए महबूब को
हर बार नहीं मनाना चाहिए महबूब को
शेखर सिंह
बज्जिका के पहिला कवि ताले राम
बज्जिका के पहिला कवि ताले राम
Udaya Narayan Singh
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
"एक नज़्म तुम्हारे नाम"
Lohit Tamta
बहुमूल्य जीवन और युवा पीढ़ी
बहुमूल्य जीवन और युवा पीढ़ी
Gaurav Sony
बाबा महादेव को पूरे अन्तःकरण से समर्पित ---
बाबा महादेव को पूरे अन्तःकरण से समर्पित ---
सिद्धार्थ गोरखपुरी
पेड़ - बाल कविता
पेड़ - बाल कविता
Kanchan Khanna
खिड़कियां हवा और प्रकाश को खींचने की एक सुगम यंत्र है।
खिड़कियां हवा और प्रकाश को खींचने की एक सुगम यंत्र है।
Rj Anand Prajapati
कोई मोहताज
कोई मोहताज
Dr fauzia Naseem shad
रखना जीवन में सदा, सुंदर दृष्टा-भाव (कुंडलिया)
रखना जीवन में सदा, सुंदर दृष्टा-भाव (कुंडलिया)
Ravi Prakash
"आशिकी ने"
Dr. Kishan tandon kranti
संसार एक जाल
संसार एक जाल
Mukesh Kumar Sonkar
3032.*पूर्णिका*
3032.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मित्रता मे १० % प्रतिशत लेल नीलकंठ बनब आवश्यक ...सामंजस्यक
मित्रता मे १० % प्रतिशत लेल नीलकंठ बनब आवश्यक ...सामंजस्यक
DrLakshman Jha Parimal
जीने का हक़!
जीने का हक़!
कविता झा ‘गीत’
मातु शारदे करो कल्याण....
मातु शारदे करो कल्याण....
डॉ.सीमा अग्रवाल
चाय की दुकान पर
चाय की दुकान पर
gurudeenverma198
" जब तुम्हें प्रेम हो जाएगा "
Aarti sirsat
Loading...