Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Aug 2016 · 1 min read

जिन्दगी

विधा – मनोरम छंद
मापनी – 2122 2122
तुकान्त – (1) एली, अते (2) एरा, आगे (3) आना, अना (4) अला है, आकर ।
———————++++——————————

जिन्दगी है इक पहेली।
पर लगे सच्ची सहेली।
दृश्य हैं हर पल बदलते।
बीत जायें तब समझते।____01

है मनुज पर राज तेरा।
रातभर या हो सवेरा।
सोचते रहकर न जागे।
जानकर भी वे अभागे।_____02

जिंदगी सुख का ठिकाना।
पर गमों को मत छिपाना।
हारकर पीछे न हटना।
जीत कर है धैर्य रखना।____03

जीतना जीवन कला है।
दुश्मनी ना हो भला है।
नफरतें दिल की मिटाकर।
सोच निज ऊँची दिखाकर।____04

नीरज पुरोहित घोलतीर(रूद्रप्रयाग)उत्तराखण्ड

Language: Hindi
378 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"गुब्बारा"
Dr. Kishan tandon kranti
*साथ तुम्हारा मिला प्रिये तो, रामायण का पाठ कर लिया (हिंदी ग
*साथ तुम्हारा मिला प्रिये तो, रामायण का पाठ कर लिया (हिंदी ग
Ravi Prakash
नहीं जा सकता....
नहीं जा सकता....
Srishty Bansal
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
गीत।।। ओवर थिंकिंग
गीत।।। ओवर थिंकिंग
Shiva Awasthi
रूठकर के खुदसे
रूठकर के खुदसे
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
एकांत
एकांत
DR ARUN KUMAR SHASTRI
■ खोज-बीन / तंत्र-जगत (परत दर परत एक खुलासा)
■ खोज-बीन / तंत्र-जगत (परत दर परत एक खुलासा)
*Author प्रणय प्रभात*
सौगंध
सौगंध
Shriyansh Gupta
चिंतन
चिंतन
ओंकार मिश्र
चाहे जितना तू कर निहां मुझको
चाहे जितना तू कर निहां मुझको
Anis Shah
सांसे केवल आपके जीवित होने की सूचक है जबकि तुम्हारे स्वर्णिम
सांसे केवल आपके जीवित होने की सूचक है जबकि तुम्हारे स्वर्णिम
Rj Anand Prajapati
प्रतीक्षा
प्रतीक्षा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
परोपकार का भाव
परोपकार का भाव
Buddha Prakash
क्या कहे हम तुमको
क्या कहे हम तुमको
gurudeenverma198
"श्रृंगारिका"
Ekta chitrangini
खींचकर हाथों से अपने ही वो सांँसे मेरी,
खींचकर हाथों से अपने ही वो सांँसे मेरी,
Neelam Sharma
लोरी (Lullaby)
लोरी (Lullaby)
Shekhar Chandra Mitra
💐प्रेम कौतुक-537💐
💐प्रेम कौतुक-537💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हमको मिलते जवाब
हमको मिलते जवाब
Dr fauzia Naseem shad
**कुछ तो कहो**
**कुछ तो कहो**
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
जिस्म से जान निकालूँ कैसे ?
जिस्म से जान निकालूँ कैसे ?
Manju sagar
स्थायित्व (Stability)
स्थायित्व (Stability)
Shyam Pandey
प्यारी मां
प्यारी मां
Mukesh Kumar Sonkar
आपका अनुरोध स्वागत है। यहां एक कविता है जो आपके देश की हवा क
आपका अनुरोध स्वागत है। यहां एक कविता है जो आपके देश की हवा क
कार्तिक नितिन शर्मा
जीवन है अलग अलग हालत, रिश्ते, में डालेगा और वही अलग अलग हालत
जीवन है अलग अलग हालत, रिश्ते, में डालेगा और वही अलग अलग हालत
पूर्वार्थ
अगर मेरी मोहब्बत का
अगर मेरी मोहब्बत का
श्याम सिंह बिष्ट
ईश्वर है
ईश्वर है
साहिल
प्राप्ति
प्राप्ति
Dr.Pratibha Prakash
तेवरी आन्दोलन की साहित्यिक यात्रा *अनिल अनल
तेवरी आन्दोलन की साहित्यिक यात्रा *अनिल अनल
कवि रमेशराज
Loading...