Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Aug 2016 · 1 min read

जिन्दगी

विधा – मनोरम छंद
मापनी – 2122 2122
तुकान्त – (1) एली, अते (2) एरा, आगे (3) आना, अना (4) अला है, आकर ।
———————++++——————————

जिन्दगी है इक पहेली।
पर लगे सच्ची सहेली।
दृश्य हैं हर पल बदलते।
बीत जायें तब समझते।____01

है मनुज पर राज तेरा।
रातभर या हो सवेरा।
सोचते रहकर न जागे।
जानकर भी वे अभागे।_____02

जिंदगी सुख का ठिकाना।
पर गमों को मत छिपाना।
हारकर पीछे न हटना।
जीत कर है धैर्य रखना।____03

जीतना जीवन कला है।
दुश्मनी ना हो भला है।
नफरतें दिल की मिटाकर।
सोच निज ऊँची दिखाकर।____04

नीरज पुरोहित घोलतीर(रूद्रप्रयाग)उत्तराखण्ड

Language: Hindi
Tag: कविता
303 Views
You may also like:
कभी-कभी / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
कब मैंने चाहा सजन
लक्ष्मी सिंह
हिन्दी दिवस
Aditya Prakash
गणेश है हम सबके प्यारे
Kavita Chouhan
देश का दिवाला
Shekhar Chandra Mitra
ज़मीं पे रहे या फलक पे उड़े हम
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ये वतन हमारा है
Dr fauzia Naseem shad
खुदा मुझको मिलेगा न तो (जानदार ग़ज़ल)
रकमिश सुल्तानपुरी
अनसुनी~प्रेम कहानी
bhandari lokesh
*अब साँठगाँठ से खाते हैं 【व्यंग्य-गीतिका】*
Ravi Prakash
*आधुनिक सॉनेट का अनुपम संग्रह है ‘एक समंदर गहरा भीतर’*
बिमल तिवारी आत्मबोध
मुझे लौटा दो वो गुजरा जमाना ...
ओनिका सेतिया 'अनु '
■ कटाक्ष / कोरी क़वायद
*प्रणय प्रभात*
कर्म का मर्म
Pooja Singh
Rainbow in the sky 🌈
Buddha Prakash
क्यों बीते कल की स्याही, आज के पन्नों पर छीटें...
Manisha Manjari
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग१]
Anamika Singh
मुख पर तेज़ आँखों में ज्वाला
Rekha Drolia
बात होती है सब नसीबों की।
सत्य कुमार प्रेमी
💐💐प्रेम की राह पर-64💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
'चिराग'
Godambari Negi
परिकल्पना
संदीप सागर (चिराग)
सोलह शृंगार
श्री रमण 'श्रीपद्'
Book of the day: अर्चना की कुण्डलियाँ (भाग-2)
Sahityapedia
✍️बुनियाद✍️
'अशांत' शेखर
# किताब ....
Chinta netam " मन "
आजकल इश्क नही 21को शादी है
Anurag pandey
तड़फ
Harshvardhan "आवारा"
जितना सताना हो,सता लो हमे तुम
Ram Krishan Rastogi
🚩सहज बने गह ज्ञान,वही तो सच्चा हीरा है ।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Loading...