Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Apr 2023 · 1 min read

जा रहा हूँ बहुत दूर मैं तुमसे

जा रहा हूँ बहुत दूर, मैं तुमसे।
नहीं आऊंगा मिलने, मैं तुमसे।।
तुमको जब मेरी, जरूरत नही है।
लेकिन नहीं हूँ नाराज, मैं तुमसे।।
जा रहा हूँ बहुत दूर————–।।

हो गए हैं शौक पूरे,जो भी थे मेरे।
नहीं अधूरे रहे हैं, अब ख्वाब मेरे।।
नहीं कोई अनजान हैं ,मुझसे यहाँ पर।
निभा चुका हूँ वादे सभी,मैं तुमसे।।
जा रहा हूँ बहुत दूर—————-।।

मैं नहीं डरता हूँ, किसी भी तूफान से।
मैं उदास नहीं हूँ ,किसी भी इल्जाम से।।
दुनिया के सवालों से, मैं निराश नहीं हूँ।
कह रहा हूँ अब यही, मैं तुमसे।।
जा रहा हूँ बहुत दूर—————।।

मुझको भी मालूम है, दर्द भी तुम्हारा।
तोड़ रहा हूँ शायद मैं, दिल भी तुम्हारा।।
जिंदा है तुम्हारे लिए, प्यार मेरे दिल में।
माफ करना हुई हो भूल, कोई मुझसे।।
जा रहा हूँ बहुत दूर——————।।

शिक्षक एवं साहित्यकार-
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)

Language: Hindi
Tag: गीत
247 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
..सुप्रभात
..सुप्रभात
आर.एस. 'प्रीतम'
शायद शब्दों में भी
शायद शब्दों में भी
Dr Manju Saini
आज़माइश
आज़माइश
Dr. Seema Varma
मैं नन्हा नन्हा बालक हूँ
मैं नन्हा नन्हा बालक हूँ
अशोक कुमार ढोरिया
आँखों से भी मतांतर का एहसास होता है , पास रहकर भी विभेदों का
आँखों से भी मतांतर का एहसास होता है , पास रहकर भी विभेदों का
DrLakshman Jha Parimal
2260.
2260.
Dr.Khedu Bharti
पहला प्यार
पहला प्यार
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
अगर कोई आपको मोहरा बना कर,अपना उल्लू सीधा कर रहा है तो समझ ल
अगर कोई आपको मोहरा बना कर,अपना उल्लू सीधा कर रहा है तो समझ ल
विमला महरिया मौज
औरत
औरत
नूरफातिमा खातून नूरी
गौभक्त और संकट से गुजरते गाय–बैल / MUSAFIR BAITHA
गौभक्त और संकट से गुजरते गाय–बैल / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
💐प्रेम कौतुक-394💐
💐प्रेम कौतुक-394💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तुम बदल जाओगी।
तुम बदल जाओगी।
Rj Anand Prajapati
हकीकत उनमें नहीं कुछ
हकीकत उनमें नहीं कुछ
gurudeenverma198
*धन्य रामकथा(कुंडलिया)*
*धन्य रामकथा(कुंडलिया)*
Ravi Prakash
व्यक्तित्व और व्यवहार हमारी धरोहर
व्यक्तित्व और व्यवहार हमारी धरोहर
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
■ आज का शेर...
■ आज का शेर...
*Author प्रणय प्रभात*
कवित्त छंद ( परशुराम जयंती )
कवित्त छंद ( परशुराम जयंती )
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
वक्त (प्रेरणादायक कविता):- सलमान सूर्य
वक्त (प्रेरणादायक कविता):- सलमान सूर्य
Salman Surya
"परखना सीख जाओगे "
Slok maurya "umang"
-आगे ही है बढ़ना
-आगे ही है बढ़ना
Seema gupta,Alwar
श्री गणेश का अर्थ
श्री गणेश का अर्थ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
आजकल स्याही से लिखा चीज भी,
आजकल स्याही से लिखा चीज भी,
Dr. Man Mohan Krishna
आंखों में
आंखों में
Dr fauzia Naseem shad
"ऐसी कोई रात नहीं"
Dr. Kishan tandon kranti
मैं  गुल  बना  गुलशन  बना  गुलफाम   बना
मैं गुल बना गुलशन बना गुलफाम बना
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
कैसे अम्बर तक जाओगे
कैसे अम्बर तक जाओगे
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
Ye chad adhura lagta hai,
Ye chad adhura lagta hai,
Sakshi Tripathi
*अम्मा*
*अम्मा*
Ashokatv
प्यार क्या है
प्यार क्या है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
शिक्षा
शिक्षा
Neeraj Agarwal
Loading...