Apr 29, 2017 · 1 min read

जाग्रत हिंदुस्तान चाहिए

जाग्रत हिंदुस्तान चाहिए ,जाग्रत हिंदुस्तान चाहिए
मानव मन के मल को धोने वाला पावन ज्ञान चाहिए


गोदी में भूखा रोता है भारत माँ का अंश विकल है।
दीन-विवश -बलहीन बंधुओं पर भारी शोषण औ छल है।
गली-राजपथ -चौराहों पर लक्ष्यहीन नर भ्रमित चित्त-सा ।
कैसे बोलें राष्ट्र सबल, जब चेतहीन मदकंस प्रबल है ।
मार भगा दे जो दुर्गुणमय तिमिर दीप-सा ध्यान चाहिए।
जाग्रत हिंदुस्तान चाहिए,जाग्रत हिंदुस्तान चाहिए।


सूर्पणखामय बृहद् विश्व से लक्ष्मण का स्वरूप ओझल है ।
काले कागरुपमय हिरदय की वाणी में भी कोयल है।
इस युग की इन परिभाषाओं को बदलेगा कौन सोच लो?
स्वयं जागकर बढो, बिज्ञता बिन सारा जीवन निष्फल है ।
सुरभित जीवन हेतु चेत बाणों का अब संधान चाहिए ।
जाग्रत हिंदुस्तान चाहिए, जाग्रत हिंदुस्तान चाहिए


जीवन लेकर आए हो तो मुक्ति हेतु, ऋषिज्ञान धारिए।
बंधन- अवनति -चक्रव्यूह के तोड़ हेतु गुरुद्वार झाड़िए ।
भारत वर्ष प्रेम- संस्कृति का चेतनमय आनंदरूप धन।
इसीलिए प्रेमी किरीट बन,राष्ट्र शीष को अब निहारिए।
जागो प्यारे, अब स्वदेश को, द्वंद नहीं,मुस्कान चाहिए।
जाग्रत हिंदुस्तान चाहिए, जाग्रत हिंदुस्तान चाहिए
…………………………………………………………….

●उक्त रचना को मेरी कृति “जागा हिंदुस्तान चाहिए” काव्य संग्रह के द्वितीय संस्करण के अनुसार परिष्कृत किया गया है।
●”जागा हिंदुस्तान चाहिए” काव्य संग्रह का द्वितीय संस्करण अमेजोन और फ्लिपकार्ट पर उपलब्ध है।

पं बृजेश कुमार नायक
??

3 Likes · 6 Comments · 1250 Views
You may also like:
इश्क के मारे है।
Taj Mohammad
जीवन
Mahendra Narayan
" ओ मेरी प्यारी माँ "
कुलदीप दहिया "मरजाणा दीप"
🍀🌺परमात्मा सर्वोपरि🌺🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
खाली पैमाना
ओनिका सेतिया 'अनु '
Crumbling Wall
Manisha Manjari
मां
Dr. Rajeev Jain
उम्मीद से भरा
Dr.sima
डर कर लक्ष्य कोई पाता नहीं है ।
Buddha Prakash
Rainbow in the sky 🌈
Buddha Prakash
हमारे जीवन में "पिता" का साया
इंजी. लोकेश शर्मा (लेखक)
बहन का जन्मदिन
Khushboo Khatoon
एक तोला स्त्री
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
सेमल के वृक्ष...!
मनोज कर्ण
माँ, हर बचपन का भगवान
Pt. Brajesh Kumar Nayak
💐प्रेम की राह पर-24💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हंसकर गमों को एक घुट में मैं इस कदर पी...
Krishan Singh
पिता, इन्टरनेट युग में
Shaily
जिंदगी की कुछ सच्ची तस्वीरें
Ram Krishan Rastogi
राम नवमी
Ram Krishan Rastogi
साहित्यकारों से
Rakesh Pathak Kathara
मतदान का दौर
Anamika Singh
मेरे पिता
Ram Krishan Rastogi
💐आत्म साक्षात्कार💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ऐ वतन!
Anamika Singh
बदलती परम्परा
Anamika Singh
हमने प्यार को छोड़ दिया है
VINOD KUMAR CHAUHAN
तन्हाई
Alok Saxena
अथक प्रयत्न
Dr.sima
सत्य छिपता नहीं...
मनोज कर्ण
Loading...