Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Jan 2017 · 1 min read

जागो मतदाता जागो

?जागो मतदाता जागो?

देश का कल रहा पुकार
है मतदान तेरा अधिकार
श्रमिक,बणिक सुनो नर औ’नार
वक्त की है यह दरकार
जो मत देते नहीं हैं जन
देश के वे बड़े दुश्मन
जब मत देना नहीं स्वीकार
क्यों करते फिर हाहाकार
वय अठरा जिसकी पूरी हो
मतदाता वह जरूरी हो
मत की शक्ति को पहचानो
हे सत्ता के जनाधार!
सबकी नहीं दिल की सुनो
है योग्य जो उसको चुनो
देती जिसे जनता दिशा
चलती उसकी है सरकार
✍हेमा तिवारी भट्ट✍

Language: Hindi
370 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
गम के पीछे ही खुशी है ये खुशी कहने लगी।
गम के पीछे ही खुशी है ये खुशी कहने लगी।
सत्य कुमार प्रेमी
*आदत*
*आदत*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कल आंखों मे आशाओं का पानी लेकर सभी घर को लौटे है,
कल आंखों मे आशाओं का पानी लेकर सभी घर को लौटे है,
manjula chauhan
महात्मा गांधी
महात्मा गांधी
Rajesh
बेवक़ूफ़
बेवक़ूफ़
Otteri Selvakumar
दिये को रोशननाने में रात लग गई
दिये को रोशननाने में रात लग गई
कवि दीपक बवेजा
क्या? किसी का भी सगा, कभी हुआ ज़माना है।
क्या? किसी का भी सगा, कभी हुआ ज़माना है।
Neelam Sharma
दीपक माटी-धातु का,
दीपक माटी-धातु का,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
क्या कर लेगा कोई तुम्हारा....
क्या कर लेगा कोई तुम्हारा....
Suryakant Dwivedi
कब तक अंधेरा रहेगा
कब तक अंधेरा रहेगा
Vaishaligoel
कहीं फूलों की बारिश है कहीं पत्थर बरसते हैं
कहीं फूलों की बारिश है कहीं पत्थर बरसते हैं
Phool gufran
बड़ी मादक होती है ब्रज की होली
बड़ी मादक होती है ब्रज की होली
कवि रमेशराज
नन्ही मिष्ठी
नन्ही मिष्ठी
Manu Vashistha
आज लिखने बैठ गया हूं, मैं अपने अतीत को।
आज लिखने बैठ गया हूं, मैं अपने अतीत को।
SATPAL CHAUHAN
मेरा आंगन
मेरा आंगन
Vishnu Prasad 'panchotiya'
धूल से ही उत्सव हैं,
धूल से ही उत्सव हैं,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
पल परिवर्तन
पल परिवर्तन
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
जब सूरज एक महीने आकाश में ठहर गया, चलना भूल गया! / Pawan Prajapati
जब सूरज एक महीने आकाश में ठहर गया, चलना भूल गया! / Pawan Prajapati
Dr MusafiR BaithA
If life is a dice,
If life is a dice,
DrChandan Medatwal
एक गलत निर्णय हमारे वजूद को
एक गलत निर्णय हमारे वजूद को
Anil Mishra Prahari
--> पुण्य भूमि भारत <--
--> पुण्य भूमि भारत <--
Ms.Ankit Halke jha
2884.*पूर्णिका*
2884.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
हम गांव वाले है जनाब...
हम गांव वाले है जनाब...
AMRESH KUMAR VERMA
बरसात हुई
बरसात हुई
Surya Barman
दिमाग नहीं बस तकल्लुफ चाहिए
दिमाग नहीं बस तकल्लुफ चाहिए
Pankaj Sen
प्यार और नफ़रत
प्यार और नफ़रत
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ज़िंदगी ऐसी कि हर सांस में
ज़िंदगी ऐसी कि हर सांस में
Dr fauzia Naseem shad
Go wherever, but only so far,
Go wherever, but only so far,"
पूर्वार्थ
#मुक्तक
#मुक्तक
*Author प्रणय प्रभात*
*आई ए एस फॅंस गए, मंत्री दसवीं फेल (हास्य कुंडलिया)*
*आई ए एस फॅंस गए, मंत्री दसवीं फेल (हास्य कुंडलिया)*
Ravi Prakash
Loading...