Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Jul 2023 · 1 min read

ज़िंदगी तो ज़िंदगी

वास्ते किसके ये कहां ठहरी।
जिन्दगी तो ज़िन्दगी ठहरी ।।
डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
10 Likes · 134 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
Confession
Confession
Vedha Singh
ज़िंदगी के सौदागर
ज़िंदगी के सौदागर
Shyam Sundar Subramanian
🙅आज है दो जून🙅
🙅आज है दो जून🙅
*प्रणय प्रभात*
गांधी के साथ हैं हम लोग
गांधी के साथ हैं हम लोग
Shekhar Chandra Mitra
मेहनती को, नाराज नही होने दूंगा।
मेहनती को, नाराज नही होने दूंगा।
पंकज कुमार कर्ण
मंजिल
मंजिल
Dr. Pradeep Kumar Sharma
खयालों ख्वाब पर कब्जा मुझे अच्छा नहीं लगता
खयालों ख्वाब पर कब्जा मुझे अच्छा नहीं लगता
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
वक्त सा गुजर गया है।
वक्त सा गुजर गया है।
Taj Mohammad
मां के आँचल में
मां के आँचल में
Satish Srijan
"You are still here, despite it all. You are still fighting
पूर्वार्थ
मंज़िल मिली उसी को इसी इक लगन के साथ
मंज़िल मिली उसी को इसी इक लगन के साथ
अंसार एटवी
!! मन रखिये !!
!! मन रखिये !!
Chunnu Lal Gupta
यादों की सुनवाई होगी
यादों की सुनवाई होगी
Shweta Soni
किसी भी वार्तालाप की यह अनिवार्यता है कि प्रयुक्त सभी शब्द स
किसी भी वार्तालाप की यह अनिवार्यता है कि प्रयुक्त सभी शब्द स
Rajiv Verma
खोज करो तुम मन के अंदर
खोज करो तुम मन के अंदर
Buddha Prakash
2656.*पूर्णिका*
2656.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
संसार में मनुष्य ही एक मात्र,
संसार में मनुष्य ही एक मात्र,
नेताम आर सी
छोटी छोटी चीजें देख कर
छोटी छोटी चीजें देख कर
Dheerja Sharma
"सियासत बाज"
Dr. Kishan tandon kranti
रिश्ता ये प्यार का
रिश्ता ये प्यार का
Mamta Rani
रिश्ता कमज़ोर
रिश्ता कमज़ोर
Dr fauzia Naseem shad
अफ़सोस
अफ़सोस
Dipak Kumar "Girja"
जन्मदिवस विशेष 🌼
जन्मदिवस विशेष 🌼
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
हिन्दी दोहा- बिषय- कौड़ी
हिन्दी दोहा- बिषय- कौड़ी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मेरी कलम
मेरी कलम
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
*बल गीत (वादल )*
*बल गीत (वादल )*
Rituraj shivem verma
अर्ज किया है जनाब
अर्ज किया है जनाब
शेखर सिंह
आक्रोष
आक्रोष
Aman Sinha
*रोना-धोना छोड़ कर, मुस्काओ हर रोज (कुंडलिया)*
*रोना-धोना छोड़ कर, मुस्काओ हर रोज (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
घरौंदा
घरौंदा
Madhavi Srivastava
Loading...