Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Nov 2023 · 1 min read

ज़िंदगी एक जाम है

यह जो सुहानी शाम है
दम भर की मेहमान है
कतरा-कतरा इसे पी लो
ज़िंदगी एक जाम है…
(१)
पल भर में सब कुछ जलकर
ख़ाक हो सकता,मत भूलो
एक बिजली की जद में
गुल-गुलशन-गुलफ़ाम है…
(२)
झूठमुठ का शिकवा क्यों
वह हाथ तुम्हारा छोड़ गई
जितना जिसने साथ दिया
उतना ही अहसान है…
(३)
चाहे जैसे हालात हों
जश्न का दौर चलता रहे
अपना तो यही रक़ीबों से
सबसे बड़ा इंतक़ाम है…
(४)
जिसमें जिंदों को सूली
और मूर्दों को मिलते हैं फूल
पागलपन या खुदकुशी
उस क़ौम का अंजाम है…
(५)
दुनिया के हर मसले का
हल बस प्यार से निकलेगा
एक दीवाने शायर का
यही आख़िरी पैग़ाम है…
#Geetkar
Shekhar Chandra Mitra
#इश्क #हुस्न #बगावत #इंकलाबी
#कयामत #आशिक #विद्रोही #हक
#प्रलय #मौत #खतरा #पहरा #सच
#फलसफा #शायर #जोगन #फकीर
#कवि #गीतकार #बालीवुड #lyrics

Language: Hindi
1 Like · 190 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*प्रभु का संग परम सुखदाई (चौपाइयॉं)*
*प्रभु का संग परम सुखदाई (चौपाइयॉं)*
Ravi Prakash
राशिफल
राशिफल
Dr. Pradeep Kumar Sharma
जीवन और रोटी (नील पदम् के दोहे)
जीवन और रोटी (नील पदम् के दोहे)
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
जीवन में
जीवन में
Dr fauzia Naseem shad
2659.*पूर्णिका*
2659.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
लक्ष्य
लक्ष्य
Mukta Rashmi
सत्यम शिवम सुंदरम
सत्यम शिवम सुंदरम
Harminder Kaur
तन्हा तन्हा ही चलना होगा
तन्हा तन्हा ही चलना होगा
AMRESH KUMAR VERMA
किसी विमर्श के लिए विवादों की जरूरत खाद की तरह है जिनके ज़रि
किसी विमर्श के लिए विवादों की जरूरत खाद की तरह है जिनके ज़रि
Dr MusafiR BaithA
तुम्हारी कहानी
तुम्हारी कहानी
PRATIK JANGID
सज गई अयोध्या
सज गई अयोध्या
Kumud Srivastava
"अजीब फलसफा"
Dr. Kishan tandon kranti
Living life now feels like an unjust crime, Sentenced to a world without you for all time.
Living life now feels like an unjust crime, Sentenced to a world without you for all time.
Manisha Manjari
हिन्दी की दशा
हिन्दी की दशा
श्याम लाल धानिया
#लघुकथा / #हिचकी
#लघुकथा / #हिचकी
*प्रणय प्रभात*
भले नफ़रत हो पर हम प्यार का मौसम समझते हैं.
भले नफ़रत हो पर हम प्यार का मौसम समझते हैं.
Slok maurya "umang"
रेल दुर्घटना
रेल दुर्घटना
Shekhar Chandra Mitra
मंजिलें
मंजिलें
Mukesh Kumar Sonkar
#दुर्दिन_हैं_सन्निकट_तुम्हारे
#दुर्दिन_हैं_सन्निकट_तुम्हारे
संजीव शुक्ल 'सचिन'
कब तक बचोगी तुम
कब तक बचोगी तुम
Basant Bhagawan Roy
बिना चले गन्तव्य को,
बिना चले गन्तव्य को,
sushil sarna
इश्क़ के नाम पर धोखा मिला करता है यहां।
इश्क़ के नाम पर धोखा मिला करता है यहां।
Phool gufran
दिल में मेरे
दिल में मेरे
हिमांशु Kulshrestha
जीव-जगत आधार...
जीव-जगत आधार...
डॉ.सीमा अग्रवाल
-- मुंह पर टीका करना --
-- मुंह पर टीका करना --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
बाल कविता: मेरा कुत्ता
बाल कविता: मेरा कुत्ता
Rajesh Kumar Arjun
भगवान की पूजा करने से
भगवान की पूजा करने से
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
कमियाॅं अपनों में नहीं
कमियाॅं अपनों में नहीं
Harminder Kaur
कोई किसी के लिए जरुरी नहीं होता मुर्शद ,
कोई किसी के लिए जरुरी नहीं होता मुर्शद ,
शेखर सिंह
Loading...