Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 May 2024 · 1 min read

जल का अपव्यय मत करो

“जल का अपव्यय मत करो”

कविता

जल की है हर बूंद कीमती,
करिये मत अपव्यय जल का

“जल” है हम सबका कल है
बिना इसके जीवन तिनका

पानीं इक बूँद की कीमत
सौ सौ गुना बढ़ जाती है,

जब बादल की गोदसे उतरकर
सीप के मुॅंह मे समाती है

संचय जल का बहुत जरूरी
खेतों के लिए वरदान है,

बहने दिया जिसनें वर्षा का पानीं
समझो, कृषक वह बिल्कुल अज्ञानी,

बंजर भूमि पर खोद तालाब
वर्षा के जल को करें एकत्र

सूखे से निपटने की युक्ति
हरियाली फैले चहुँ सर्वत्र

जल का अपव्यय अब न हो
करिये दृढ़ संकल्प

जल संरक्षण बहुत जरूरी
दूजा नहीं विकल्प,

डॉ कुमुद श्रीवास्तव वर्मा कुमुदिनी लखनऊ

29 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*हुआ गणेश चतुर्थी के दिन, संसद का श्री गणेश (गीत)*
*हुआ गणेश चतुर्थी के दिन, संसद का श्री गणेश (गीत)*
Ravi Prakash
चाँद कुछ इस तरह से पास आया…
चाँद कुछ इस तरह से पास आया…
Anand Kumar
Dilemmas can sometimes be as perfect as perfectly you dwell
Dilemmas can sometimes be as perfect as perfectly you dwell
Sukoon
सुंदर शरीर का, देखो ये क्या हाल है
सुंदर शरीर का, देखो ये क्या हाल है
डॉ.एल. सी. जैदिया 'जैदि'
लोककवि रामचरन गुप्त एक देशभक्त कवि - डॉ. रवीन्द्र भ्रमर
लोककवि रामचरन गुप्त एक देशभक्त कवि - डॉ. रवीन्द्र भ्रमर
कवि रमेशराज
3576.💐 *पूर्णिका* 💐
3576.💐 *पूर्णिका* 💐
Dr.Khedu Bharti
दोहे- उदास
दोहे- उदास
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
"व्यथा"
Dr. Kishan tandon kranti
■ चुनावी साल के चतुर चुरकुट।।
■ चुनावी साल के चतुर चुरकुट।।
*प्रणय प्रभात*
मालपुआ
मालपुआ
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
चलते रहना ही जीवन है।
चलते रहना ही जीवन है।
संजय कुमार संजू
माँ मुझे जवान कर तू बूढ़ी हो गयी....
माँ मुझे जवान कर तू बूढ़ी हो गयी....
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
.....*खुदसे जंग लढने लगा हूं*......
.....*खुदसे जंग लढने लगा हूं*......
Naushaba Suriya
उतर गए निगाह से वे लोग भी पुराने
उतर गए निगाह से वे लोग भी पुराने
सिद्धार्थ गोरखपुरी
लघुकथा -
लघुकथा - "कनेर के फूल"
Dr Tabassum Jahan
औरत
औरत
नूरफातिमा खातून नूरी
कान्हा प्रीति बँध चली,
कान्हा प्रीति बँध चली,
Neelam Sharma
जिंदगी भर किया इंतजार
जिंदगी भर किया इंतजार
पूर्वार्थ
खाली सूई का कोई मोल नहीं 🙏
खाली सूई का कोई मोल नहीं 🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
!! परदे हया के !!
!! परदे हया के !!
Chunnu Lal Gupta
खुद को पाने में
खुद को पाने में
Dr fauzia Naseem shad
इस राह चला,उस राह चला
इस राह चला,उस राह चला
TARAN VERMA
जो मिला ही नहीं
जो मिला ही नहीं
Dr. Rajeev Jain
बड़ा मायूस बेचारा लगा वो।
बड़ा मायूस बेचारा लगा वो।
सत्य कुमार प्रेमी
समृद्धि
समृद्धि
Paras Nath Jha
भोर पुरानी हो गई
भोर पुरानी हो गई
आर एस आघात
नटखट-चुलबुल चिड़िया।
नटखट-चुलबुल चिड़िया।
Vedha Singh
"Every person in the world is a thief, the only difference i
ASHISH KUMAR SINGH
कलम वो तलवार है ,
कलम वो तलवार है ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
इन समंदर का तसव्वुर भी क्या ख़ूब होता है,
इन समंदर का तसव्वुर भी क्या ख़ूब होता है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
Loading...