Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Aug 2023 · 1 min read

जपू नित राधा – राधा नाम

नवल किशोरी, दिव्य सुवासिन
मांगू एक वरदान, जपू नित राधा – राधा नाम।

नित्य सुखकरनी , कंचन वर्णी
नित नवनीता, कृष्ण अनंदिनी
सिंधु स्वरूपा, मृदुल भाषिणी
मेरा एक अरमान, जपू नित राधा – राधा नाम।

कृष्ण संगिनी, कोमल अंगनी
परम पुनीता, आनंद कन्दिनी
सकल गुणीता, नबल भामिनी
हो ऐसा इंतजाम, जपू नित राधा – राधा नाम।

रास विलासिनी, जगत स्वामिनी
परम अनुपा, सुभग भामिनी
परम हर्षिणी कृपा वर्षिणी
कर दो पूरन काम, जपू नित राधा – राधा नाम।

✍️ बसंत भगवान राय
(धुन : पवनसुत विनती बारम्बार)

Language: Hindi
Tag: गीत
2 Likes · 792 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Basant Bhagawan Roy
View all
You may also like:
हमारी तुम्हारी मुलाकात
हमारी तुम्हारी मुलाकात
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
मजे की बात है ....
मजे की बात है ....
Rohit yadav
"जिन्दगी"
Dr. Kishan tandon kranti
अन्त हुआ सब आ गए, झूठे जग के मीत ।
अन्त हुआ सब आ गए, झूठे जग के मीत ।
sushil sarna
* वेदना का अभिलेखन : आपदा या अवसर *
* वेदना का अभिलेखन : आपदा या अवसर *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जो गगन जल थल में है सुख धाम है।
जो गगन जल थल में है सुख धाम है।
सत्य कुमार प्रेमी
दिल में जो आता है।
दिल में जो आता है।
Taj Mohammad
हादसे बोल कर नहीं आते
हादसे बोल कर नहीं आते
Dr fauzia Naseem shad
नए साल के ज़श्न को हुए सभी तैयार
नए साल के ज़श्न को हुए सभी तैयार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
The most awkward situation arises when you lie between such
The most awkward situation arises when you lie between such
Sukoon
बंदिशें
बंदिशें
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मनहरण घनाक्षरी
मनहरण घनाक्षरी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
यह सुहाना सफर अभी जारी रख
यह सुहाना सफर अभी जारी रख
Anil Mishra Prahari
आजादी का दीवाना था
आजादी का दीवाना था
Vishnu Prasad 'panchotiya'
भूमि दिवस
भूमि दिवस
SATPAL CHAUHAN
*भरत राम के पद अनुरागी (चौपाइयॉं)*
*भरत राम के पद अनुरागी (चौपाइयॉं)*
Ravi Prakash
हमने देखा है हिमालय को टूटते
हमने देखा है हिमालय को टूटते
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
कोई शुहरत का मेरी है, कोई धन का वारिस
कोई शुहरत का मेरी है, कोई धन का वारिस
Sarfaraz Ahmed Aasee
जिंदगी के तराने
जिंदगी के तराने
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
एक ही राम
एक ही राम
Satish Srijan
दुख है दर्द भी है मगर मरहम नहीं है
दुख है दर्द भी है मगर मरहम नहीं है
कवि दीपक बवेजा
रक्षाबंधन
रक्षाबंधन
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
हो गये अब हम तुम्हारे जैसे ही
हो गये अब हम तुम्हारे जैसे ही
gurudeenverma198
दिलों का हाल तु खूब समझता है
दिलों का हाल तु खूब समझता है
नूरफातिमा खातून नूरी
■ ज़रूरत है बहाने की। करेंगे वही जो करना है।।
■ ज़रूरत है बहाने की। करेंगे वही जो करना है।।
*Author प्रणय प्रभात*
वो ज़ख्म जो दिखाई नहीं देते
वो ज़ख्म जो दिखाई नहीं देते
shabina. Naaz
आत्महत्या कर के भी, मैं जिंदा हूं,
आत्महत्या कर के भी, मैं जिंदा हूं,
Pramila sultan
भाई बहन का रिश्ता बचपन और शादी के बाद का
भाई बहन का रिश्ता बचपन और शादी के बाद का
Rajni kapoor
बातें कल भी होती थी, बातें आज भी होती हैं।
बातें कल भी होती थी, बातें आज भी होती हैं।
ओसमणी साहू 'ओश'
माँ सच्ची संवेदना...
माँ सच्ची संवेदना...
डॉ.सीमा अग्रवाल
Loading...