Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Nov 2022 · 1 min read

जनता देख रही है खड़ी खड़ी

जनता देख रही है खड़ी खड़ी
लगा रहे हैं फिर वादों की झड़ी
आते ही चुनाव कहानी नई गढ़ी
सबको देंगे अंगूठी हीरे से जड़ी
नवयौवनाओं को हीरे का हार
स्वप्न लोक की सैर साथ में उपहार
बदले में चाहिए थोड़ा सा प्यार
ये तो केबल टेलर है फिल्म में बातें हैं बड़ी बड़ी
हम हैं कट्टर ईमानदार
नहीं करते बातें मलाईदार
जो कहते हैं करते हैं
बस चाहिए थोड़ा सा प्यार
देश को पेरिस बनाएंगे
पुराने मूल्यों को घटाएंगे
सब कुछ होगा खुला खुला
बंदिशों से आजाद कराएंगे
आप कीजिए कृपा बड़ी
हमारे पास है जादू की छड़ी
पलक झपकते ही सब काम हो जाएंगे
जैसे ही हम कुर्सी पर बैठ जाएंगे
आप जो चाहें मुफ्त में पाएंगे
सबके सब जवान हो जाएंगे
बुढ़ापा आपको छू भी नहीं पाएगा
हमारे पास है अनमोल जड़ी
हमको दीजिए सत्ता आजमाइए
अभी तक हम पर आपकी
नज़रें नहीं पड़ी
जनता सुन रही है खड़ी खड़ी
राजनैतिक दलों की बातें बड़ी बड़ी
सोच रही है कब तक ठगे जाएंगे
राजनीति में कब ईमानदार लोग आएंगे 🙏
सुरेश कुमार चतुर्वेदी

4 Likes · 1 Comment · 220 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from सुरेश कुमार चतुर्वेदी
View all
You may also like:
नेता सोये चैन से,
नेता सोये चैन से,
sushil sarna
ज़िंदगी
ज़िंदगी
Dr. Seema Varma
अयोध्या धाम तुम्हारा तुमको पुकारे
अयोध्या धाम तुम्हारा तुमको पुकारे
Harminder Kaur
ख़त्म हुईं सब दावतें, मस्ती यारो संग
ख़त्म हुईं सब दावतें, मस्ती यारो संग
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
प्यार है रब की इनायत या इबादत क्या है।
प्यार है रब की इनायत या इबादत क्या है।
सत्य कुमार प्रेमी
उजियारी ऋतुओं में भरती
उजियारी ऋतुओं में भरती
Rashmi Sanjay
"तेजाब"
Dr. Kishan tandon kranti
ग़ज़ल
ग़ज़ल
आर.एस. 'प्रीतम'
दिखा तू अपना जलवा
दिखा तू अपना जलवा
gurudeenverma198
*जनसेवा अब शब्दकोश में फरमाती आराम है (गीतिका)*
*जनसेवा अब शब्दकोश में फरमाती आराम है (गीतिका)*
Ravi Prakash
अगर
अगर
Shweta Soni
World Blood Donar's Day
World Blood Donar's Day
Tushar Jagawat
नफरतों के शहर में प्रीत लुटाते रहना।
नफरतों के शहर में प्रीत लुटाते रहना।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
गम इतने दिए जिंदगी ने
गम इतने दिए जिंदगी ने
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
*तुम और  मै धूप - छाँव  जैसे*
*तुम और मै धूप - छाँव जैसे*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
■ आज का संकल्प...
■ आज का संकल्प...
*प्रणय प्रभात*
साहित्यकार ओमप्रकाश वाल्मीकि के साहित्य से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण पुस्तकें।
साहित्यकार ओमप्रकाश वाल्मीकि के साहित्य से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण पुस्तकें।
Dr. Narendra Valmiki
दिनकर शांत हो
दिनकर शांत हो
भरत कुमार सोलंकी
आपकी अच्छाईया बेशक अदृष्य हो सकती है
आपकी अच्छाईया बेशक अदृष्य हो सकती है
Rituraj shivem verma
// माँ की ममता //
// माँ की ममता //
Shivkumar barman
चंद्रयान
चंद्रयान
Mukesh Kumar Sonkar
बिहार में डॉ अम्बेडकर का आगमन : MUSAFIR BAITHA
बिहार में डॉ अम्बेडकर का आगमन : MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
*
*"बीजणा" v/s "बाजणा"* आभूषण
लोककवि पंडित राजेराम संगीताचार्य
लोग बस दिखाते है यदि वो बस करते तो एक दिन वो खुद अपने मंज़िल
लोग बस दिखाते है यदि वो बस करते तो एक दिन वो खुद अपने मंज़िल
Rj Anand Prajapati
हिंदी साहित्य की नई : सजल
हिंदी साहित्य की नई : सजल
Sushila joshi
क्रोधी सदा भूत में जीता
क्रोधी सदा भूत में जीता
महेश चन्द्र त्रिपाठी
India is my national
India is my national
Rajan Sharma
????????
????????
शेखर सिंह
किताबे पढ़िए!!
किताबे पढ़िए!!
पूर्वार्थ
महफ़िल मे किसी ने नाम लिया वर्ल्ड कप का,
महफ़िल मे किसी ने नाम लिया वर्ल्ड कप का,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
Loading...