Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Feb 2023 · 1 min read

छतें बुढापा, बचपन आँगन

छतें बुढापा, बचपन आँगन
पक्की दीवारों सा यौवन।।
घर यदि बन जाए उपवन सा
क्षण-प्रतिक्षण महकेगा जीवन।।

★प्रणय प्रभात★

1 Like · 181 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
12) “पृथ्वी का सम्मान”
12) “पृथ्वी का सम्मान”
Sapna Arora
सुप्रभात
सुप्रभात
डॉक्टर रागिनी
তুমি এলে না
তুমি এলে না
goutam shaw
33 लयात्मक हाइकु
33 लयात्मक हाइकु
कवि रमेशराज
बदल सकता हूँ मैं......
बदल सकता हूँ मैं......
दीपक श्रीवास्तव
अनुप्रास अलंकार
अनुप्रास अलंकार
नूरफातिमा खातून नूरी
बहुत खुश था
बहुत खुश था
VINOD CHAUHAN
लड्डू बद्री के ब्याह का
लड्डू बद्री के ब्याह का
Kanchan Khanna
*स्वजन जो आज भी रूठे हैं, उनसे मेल हो जाए (मुक्तक)*
*स्वजन जो आज भी रूठे हैं, उनसे मेल हो जाए (मुक्तक)*
Ravi Prakash
****तन्हाई मार गई****
****तन्हाई मार गई****
Kavita Chouhan
23/79.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/79.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
🙅आज का शेर🙅
🙅आज का शेर🙅
*प्रणय प्रभात*
आस्था
आस्था
Neeraj Agarwal
मौन धृतराष्ट्र बन कर खड़े हो
मौन धृतराष्ट्र बन कर खड़े हो
DrLakshman Jha Parimal
चाहत है बहुत उनसे कहने में डर लगता हैं
चाहत है बहुत उनसे कहने में डर लगता हैं
Jitendra Chhonkar
तेरे सहारे ही जीवन बिता लुंगा
तेरे सहारे ही जीवन बिता लुंगा
Keshav kishor Kumar
आंगन को तरसता एक घर ....
आंगन को तरसता एक घर ....
ओनिका सेतिया 'अनु '
महाप्रयाण
महाप्रयाण
Shyam Sundar Subramanian
एहसास
एहसास
भरत कुमार सोलंकी
ॐ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
हर-सम्त शोर है बरपा,
हर-सम्त शोर है बरपा,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
ये जुल्म नहीं तू सहनकर
ये जुल्म नहीं तू सहनकर
gurudeenverma198
अलग सी सोच है उनकी, अलग अंदाज है उनका।
अलग सी सोच है उनकी, अलग अंदाज है उनका।
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
अद्वितीय संवाद
अद्वितीय संवाद
Monika Verma
मुट्ठी में आकाश ले, चल सूरज की ओर।
मुट्ठी में आकाश ले, चल सूरज की ओर।
Suryakant Dwivedi
हब्स के बढ़ते हीं बारिश की दुआ माँगते हैं
हब्स के बढ़ते हीं बारिश की दुआ माँगते हैं
Shweta Soni
न्याय के लिए
न्याय के लिए
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
जन्मदिन के मौक़े पिता की याद में 😥
जन्मदिन के मौक़े पिता की याद में 😥
Neelofar Khan
"उड़ान"
Dr. Kishan tandon kranti
स्त्री का सम्मान ही पुरुष की मर्दानगी है और
स्त्री का सम्मान ही पुरुष की मर्दानगी है और
Ranjeet kumar patre
Loading...