Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Jun 2023 · 1 min read

*छतरी (बाल कविता)*

छतरी (बाल कविता)

छतरी काम धूप में आती
वर्षा से यह हमें बचाती
सिर के ऊपर इसे तानते
शाही-जैसे ठाठ मानते
रंग-बिरंगी नीली-काली
छतरी की है छटा निराली

रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर, उत्तर प्रदेश
मोबाइल 99976 15451

384 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
3179.*पूर्णिका*
3179.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
वो क्या देंगे साथ है,
वो क्या देंगे साथ है,
sushil sarna
कौन कहता है की ,
कौन कहता है की ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
बेफिक्र अंदाज
बेफिक्र अंदाज
SHAMA PARVEEN
राणा सा इस देश में, हुआ न कोई वीर
राणा सा इस देश में, हुआ न कोई वीर
Dr Archana Gupta
क्या रखा है???
क्या रखा है???
Sûrëkhâ Rãthí
एक अरसा हो गया गाँव गये हुए, बचपन मे कभी कभी ही जाने का मौका
एक अरसा हो गया गाँव गये हुए, बचपन मे कभी कभी ही जाने का मौका
पूर्वार्थ
रक्तदान
रक्तदान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
टैगोर
टैगोर
Aman Kumar Holy
हर कोरे कागज का जीवंत अल्फ़ाज़ बनना है मुझे,
हर कोरे कागज का जीवंत अल्फ़ाज़ बनना है मुझे,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
■ प्रभात वन्दन
■ प्रभात वन्दन
*Author प्रणय प्रभात*
गाँधी जी की लाठी
गाँधी जी की लाठी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
जनता की कमाई गाढी
जनता की कमाई गाढी
Bodhisatva kastooriya
यदि कोई आपकी कॉल को एक बार में नहीं उठाता है तब आप यह समझिए
यदि कोई आपकी कॉल को एक बार में नहीं उठाता है तब आप यह समझिए
Rj Anand Prajapati
महिला दिवस पर एक व्यंग
महिला दिवस पर एक व्यंग
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
Pyasa ke dohe (vishwas)
Pyasa ke dohe (vishwas)
Vijay kumar Pandey
"भाभी की चूड़ियाँ"
Ekta chitrangini
तुम चंद्रछवि मृगनयनी हो, तुम ही तो स्वर्ग की रंभा हो,
तुम चंद्रछवि मृगनयनी हो, तुम ही तो स्वर्ग की रंभा हो,
SPK Sachin Lodhi
अर्ज है पत्नियों से एक निवेदन करूंगा
अर्ज है पत्नियों से एक निवेदन करूंगा
शेखर सिंह
"समरसता"
Dr. Kishan tandon kranti
*प्रेम कविताएं*
*प्रेम कविताएं*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
🙏आप सभी को सपरिवार
🙏आप सभी को सपरिवार
Neelam Sharma
"जंगल की सैर”
पंकज कुमार कर्ण
वो रास्ता तलाश रहा हूं
वो रास्ता तलाश रहा हूं
Vikram soni
लहर आजादी की
लहर आजादी की
चक्षिमा भारद्वाज"खुशी"
*छोड़ी पशु-हिंसा प्रथा, अग्रसेन जी धन्य (कुंडलिया)*
*छोड़ी पशु-हिंसा प्रथा, अग्रसेन जी धन्य (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
भारत की है शान तिरंगा
भारत की है शान तिरंगा
surenderpal vaidya
व्यस्तता
व्यस्तता
Surya Barman
💐अज्ञात के प्रति-95💐
💐अज्ञात के प्रति-95💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...