Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#4 Trending Author
May 15, 2022 · 1 min read

चेहरा तुम्हारा।

चेहरा तुम्हारा क्यों अश्कों से नम था।
नजरों में तुम्हारी क्यों बेपनाह गम था।।1।।

तुम्हारी सिसकारियां मैने भी सुनी थी।
अश्कों से तुम्हारे पूरा चेहरा पुरनम था।।2।।

गर है कोई गम तो हमे तुम बतलाओ।
आंखों में क्यूं कतरा-कतरा समंदर था।।3।।

तुमको देखा तो थोडा हंसकर रो दिए।
वर्ना बीता वक्त ज़िंदगी का जहन्नम था।।4।।

जानें कैसे तबाह करली हमने जिंदगी।
मकसूदे मंजिल पर कोई ना वहम था।।5।।

ताकत से जंग जीतते है मोहब्बत नहीं।
इशरार ए सनम हमारे लिए अहम था।।6।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

2 Likes · 4 Comments · 87 Views
You may also like:
प्रेमानुभूति भाग-1 'प्रेम वियोगी ना जीवे, जीवे तो बौरा होई।’
पंकज 'प्रखर'
नमन!
Shriyansh Gupta
I Have No Desire To Be Found At Any Cost
Manisha Manjari
** तेरा बेमिसाल हुस्न **
DESH RAJ
ये ख्वाब न होते तो क्या होता?
सिद्धार्थ गोरखपुरी
*कभी मिलता नहीं होता (मुक्तक)*
Ravi Prakash
*शंकर तुम्हें प्रणाम है (भक्ति-गीत)*
Ravi Prakash
मौसम की पहली बारिश....
Dr. Alpa H. Amin
कहाँ तुम पौन हो
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मदहोश रहे सदा।
Taj Mohammad
पूरी करता घर की सारी, ख्वाहिशों को वो पिता है।
सत्य कुमार प्रेमी
मैं
Saraswati Bajpai
चढ़ता पारा
जगदीश शर्मा सहज
ज़िंदगी को चुना
अंजनीत निज्जर
बंद हैं भारत में विद्यालय.
Pt. Brajesh Kumar Nayak
' स्वराज 75' आजाद स्वतन्त्र सेनानी शर्मिंदा
jaswant Lakhara
कर्ज
Vikas Sharma'Shivaaya'
अल्फाज़ ए ताज भाग-4
Taj Mohammad
भोजपुरी के संवैधानिक दर्जा बदे सरकार से अपील
आकाश महेशपुरी
खुशियों भरे पल
surenderpal vaidya
भक्त कवि स्वर्गीय श्री रविदेव_रामायणी*
Ravi Prakash
आपकी याद
Abhishek Upadhyay
दुविधा
Shyam Sundar Subramanian
दिए जो गम तूने, उन्हे अब भुलाना पड़ेगा
Ram Krishan Rastogi
💐प्रेम की राह पर-57💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
रिश्ते
Saraswati Bajpai
मैं बेटी हूँ।
Anamika Singh
बरसात की छतरी
Buddha Prakash
हाइकु:(लता की यादें!)
Prabhudayal Raniwal
*अध्यात्म ज्योति :* अंक 1 ,वर्ष 55, प्रयागराज जनवरी -...
Ravi Prakash
Loading...