Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Jan 2023 · 1 min read

चेतावनी

रह गईल बाटे
बहुत कम वक़्त
अब्बो सम्भल जो
रे कमबख्त…
(१)
मजलूम जनता
अब जागअ तिया
उलट जाई ताज
पलट जाई तख्त…
(२)
जेतने संगीन
गुनाह तें कईले
सज़ा मिली तोके
ओतने सख़्त…
(३)
इंकलाब आख़िर
होके रही
बेकार ना जाई
एक बूंद रक्त…
(४)
तोर सबसे बड़ा
उहे दुस्मन बा
ते मानेले जेके
आपन भक्त…
#Geetkar
Shekhar Chandra Mitra
#बहुजनशायर #जनवादीगीतकार #शायरी
#साम्प्रदायिकता #धर्मनिरपेक्षता #youth
#चुनावीगीत #अवामी #शायर #नौजवान
#बगावत #विद्रोह #सियासत #कविता
#राजनीति #गीत #lyricist #Politics

Language: Bhojpuri
Tag: गीत
128 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"अपनी करतूत की होली जलाई जाती है।
*Author प्रणय प्रभात*
खुद से प्यार
खुद से प्यार
लक्ष्मी सिंह
भूखे हैं कुछ लोग !
भूखे हैं कुछ लोग !
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
राष्ट्र निर्माता गुरु
राष्ट्र निर्माता गुरु
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
एक गजल
एक गजल
umesh mehra
25-बढ़ रही है रोज़ महँगाई किसे आवाज़ दूँ
25-बढ़ रही है रोज़ महँगाई किसे आवाज़ दूँ
Ajay Kumar Vimal
जीवन के आधार पिता
जीवन के आधार पिता
Kavita Chouhan
अमीर-ग़रीब वर्ग दो,
अमीर-ग़रीब वर्ग दो,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
देशभक्त मातृभक्त पितृभक्त गुरुभक्त चरित्रवान विद्वान बुद्धिम
देशभक्त मातृभक्त पितृभक्त गुरुभक्त चरित्रवान विद्वान बुद्धिम
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
रानी लक्ष्मीबाई का मेरे स्वप्न में आकर मुझे राष्ट्र सेवा के लिए प्रेरित करना ......(निबंध) सर्वाधिकार सुरक्षित
रानी लक्ष्मीबाई का मेरे स्वप्न में आकर मुझे राष्ट्र सेवा के लिए प्रेरित करना ......(निबंध) सर्वाधिकार सुरक्षित
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
खुद को परोस कर..मैं खुद को खा गया
खुद को परोस कर..मैं खुद को खा गया
सिद्धार्थ गोरखपुरी
आत्मघाती हमला
आत्मघाती हमला
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
कुदरत से मिलन , अद्धभुत मिलन।
कुदरत से मिलन , अद्धभुत मिलन।
Kuldeep mishra (KD)
3151.*पूर्णिका*
3151.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मोहब्बत।
मोहब्बत।
Taj Mohammad
मुक्तक
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
आपकी सादगी ही आपको सुंदर बनाती है...!
आपकी सादगी ही आपको सुंदर बनाती है...!
Aarti sirsat
पहले आप
पहले आप
Shivkumar Bilagrami
सुबह-सुबह उठ जातीं मम्मी (बाल कविता)
सुबह-सुबह उठ जातीं मम्मी (बाल कविता)
Ravi Prakash
चॉंद और सूरज
चॉंद और सूरज
Ravi Ghayal
"चांद पे तिरंगा"
राकेश चौरसिया
मान देने से मान मिले, अपमान से मिले अपमान।
मान देने से मान मिले, अपमान से मिले अपमान।
पूर्वार्थ
#justareminderekabodhbalak #drarunkumarshastriblogger
#justareminderekabodhbalak #drarunkumarshastriblogger
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बिडम्बना
बिडम्बना
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
Jo kbhi mere aashko me dard bankar
Jo kbhi mere aashko me dard bankar
Sakshi Tripathi
तुम्हें भूल नहीं सकता कभी
तुम्हें भूल नहीं सकता कभी
gurudeenverma198
"कोहरा रूपी कठिनाई"
Yogendra Chaturwedi
"पहचान"
Dr. Kishan tandon kranti
स्वप्न मन के सभी नित्य खंडित हुए ।
स्वप्न मन के सभी नित्य खंडित हुए ।
Arvind trivedi
कन्या रूपी माँ अम्बे
कन्या रूपी माँ अम्बे
Kanchan Khanna
Loading...