Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Nov 2022 · 1 min read

चीख की लय

आदिवासियों,
दलितों और
स्त्रियों की
रचनाओं में
साहित्यिक सौंदर्य
ढूंढ़ने वाले लोग
क्या इतना भी
नहीं जानते कि
“चीख की
कोई लय नहीं होती है!”
#बहुजन #शूद्र #दलित #मनुवादी
#जातीय #उत्पीड़न #दंश #शोषण
#अत्याचार #अन्याय #अपमान
#धर्म #दमन #women #इंसाफ़

1 Like · 224 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
डॉ अरुण कुमार शास्त्री / drarunkumarshastri
डॉ अरुण कुमार शास्त्री / drarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"दस ढीठों ने ताक़त दे दी,
*प्रणय प्रभात*
*Nabi* के नवासे की सहादत पर
*Nabi* के नवासे की सहादत पर
Shakil Alam
माता पिता के श्री चरणों में बारंबार प्रणाम है
माता पिता के श्री चरणों में बारंबार प्रणाम है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
क़त्ल कर गया तो क्या हुआ, इश्क़ ही तो है-
क़त्ल कर गया तो क्या हुआ, इश्क़ ही तो है-
Shreedhar
चली जाऊं जब मैं इस जहां से.....
चली जाऊं जब मैं इस जहां से.....
Santosh Soni
मिट न सके, अल्फ़ाज़,
मिट न सके, अल्फ़ाज़,
Mahender Singh
"दर्द दर्द ना रहा"
Dr. Kishan tandon kranti
आप की डिग्री सिर्फ एक कागज का टुकड़ा है जनाब
आप की डिग्री सिर्फ एक कागज का टुकड़ा है जनाब
शेखर सिंह
दो शे'र
दो शे'र
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
जो द्वार का सांझ दिया तुमको,तुम उस द्वार को छोड़
जो द्वार का सांझ दिया तुमको,तुम उस द्वार को छोड़
पूर्वार्थ
आँखें
आँखें
लक्ष्मी सिंह
मेरी कलम
मेरी कलम
Shekhar Chandra Mitra
Safar : Classmates to Soulmates
Safar : Classmates to Soulmates
Prathmesh Yelne
"दहलीज"
Ekta chitrangini
* मुस्कुराते हुए *
* मुस्कुराते हुए *
surenderpal vaidya
हक़ीक़त का
हक़ीक़त का
Dr fauzia Naseem shad
खुद की एक पहचान बनाओ
खुद की एक पहचान बनाओ
Vandna Thakur
!!  श्री गणेशाय् नम्ः  !!
!! श्री गणेशाय् नम्ः !!
Lokesh Sharma
धर्म के रचैया श्याम,नाग के नथैया श्याम
धर्म के रचैया श्याम,नाग के नथैया श्याम
कृष्णकांत गुर्जर
*भारतमाता-भक्त तुम, मोदी तुम्हें प्रणाम (कुंडलिया)*
*भारतमाता-भक्त तुम, मोदी तुम्हें प्रणाम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
बीज अंकुरित अवश्य होगा
बीज अंकुरित अवश्य होगा
VINOD CHAUHAN
इंसान एक दूसरे को परखने में इतने व्यस्त थे
इंसान एक दूसरे को परखने में इतने व्यस्त थे
ruby kumari
*प्यार तो होगा*
*प्यार तो होगा*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
कंठ तक जल में गड़ा, पर मुस्कुराता है कमल ।
कंठ तक जल में गड़ा, पर मुस्कुराता है कमल ।
Satyaveer vaishnav
23/107.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/107.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
शुभ दीपावली
शुभ दीपावली
Harsh Malviya
साजिशें ही साजिशें...
साजिशें ही साजिशें...
डॉ.सीमा अग्रवाल
तसव्वुर
तसव्वुर
Shyam Sundar Subramanian
गाँव कुछ बीमार सा अब लग रहा है
गाँव कुछ बीमार सा अब लग रहा है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Loading...