Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Feb 2017 · 1 min read

चिड़िया

चिड़िया रानी

चिड़िया रानी कहे कहानी
आँखों में सपने पानी पानी

आँगन की है शोभा ये तो
घर की चहल पहल
उड़ जाना है उसे एक दिन
पिय के शीश महल
बाधाओं से कब है हारी
बाबुल की ये राजदुलारी
चिड़िया रानी कहे कहानी

है जाना उसको दूर तलक
रोशन करने हर कोना
भीगे डैनों में बसा फलक
चाहे वो सूरज होना
कदम कदम पर बरसे पानी
बची है हिम्मत और रवानी
चिड़िया रानी कहे कहानी

नीड़ उड़ गए तूफानों में
सपनें उजड़ गए
कल तक साथ चले थे जो
वो संगी बिछड़ गए
एक हौसला बचा हुआ है
उड़ने की है ठानी
चिड़िया रानी कहे कहानी

अल्पना

Language: Hindi
Tag: गीत
2 Likes · 1 Comment · 278 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
प्रतीक्षा
प्रतीक्षा
Kanchan Khanna
*नाम है इनका, राजीव तरारा*
*नाम है इनका, राजीव तरारा*
Dushyant Kumar
गले से लगा ले मुझे प्यार से
गले से लगा ले मुझे प्यार से
Basant Bhagawan Roy
खोज करो तुम मन के अंदर
खोज करो तुम मन के अंदर
Buddha Prakash
जिंदगी तेरे कितने रंग, मैं समझ न पाया
जिंदगी तेरे कितने रंग, मैं समझ न पाया
पूर्वार्थ
क्यों हमें बुनियाद होने की ग़लत-फ़हमी रही ये
क्यों हमें बुनियाद होने की ग़लत-फ़हमी रही ये
Meenakshi Masoom
वक्त बड़ा बेरहम होता है साहब अपने साथ इंसान से जूड़ी हर यादो
वक्त बड़ा बेरहम होता है साहब अपने साथ इंसान से जूड़ी हर यादो
Ranjeet kumar patre
बुढापे की लाठी
बुढापे की लाठी
Suryakant Dwivedi
संवेदना...2
संवेदना...2
Neeraj Agarwal
ବାତ୍ୟା ସ୍ଥିତି
ବାତ୍ୟା ସ୍ଥିତି
Otteri Selvakumar
गजल सगीर
गजल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
घर से बेघर
घर से बेघर
Punam Pande
"आफ़ताब"
Dr. Kishan tandon kranti
*समारोह को पंखुड़ियॉं, बिखरी क्षणभर महकाती हैं (हिंदी गजल/ ग
*समारोह को पंखुड़ियॉं, बिखरी क्षणभर महकाती हैं (हिंदी गजल/ ग
Ravi Prakash
हमेशा आंखों के समुद्र ही बहाओगे
हमेशा आंखों के समुद्र ही बहाओगे
कवि दीपक बवेजा
मुक्तक
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
ਹਕੀਕਤ ਜਾਣਦੇ ਹਾਂ
ਹਕੀਕਤ ਜਾਣਦੇ ਹਾਂ
Surinder blackpen
तौबा ! कैसा यह रिवाज
तौबा ! कैसा यह रिवाज
ओनिका सेतिया 'अनु '
अंतरद्वंद
अंतरद्वंद
Happy sunshine Soni
आया पर्व पुनीत....
आया पर्व पुनीत....
डॉ.सीमा अग्रवाल
वो हमसे पराये हो गये
वो हमसे पराये हो गये
Dr. Man Mohan Krishna
2912.*पूर्णिका*
2912.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
वफादारी का ईनाम
वफादारी का ईनाम
Shekhar Chandra Mitra
दो शब्द
दो शब्द
Dr fauzia Naseem shad
खुल जाये यदि भेद तो,
खुल जाये यदि भेद तो,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
शब्द अनमोल मोती
शब्द अनमोल मोती
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
5 हिन्दी दोहा बिषय- विकार
5 हिन्दी दोहा बिषय- विकार
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
"सुप्रभात"
Yogendra Chaturwedi
प्यार टूटे तो टूटने दो ,बस हौंसला नहीं टूटना चाहिए
प्यार टूटे तो टूटने दो ,बस हौंसला नहीं टूटना चाहिए
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
माहिया छंद विधान (पंजाबी ) सउदाहरण
माहिया छंद विधान (पंजाबी ) सउदाहरण
Subhash Singhai
Loading...