Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Jul 2016 · 1 min read

चांद ईद का बना दिल जिसे नादानी कर गया

उसका इश्क़ मेरा हाल रमदानी कर गया
चांद ईद का बना दिल जिसे नादानी कर गया
आसानी से ले लेने दी , उसे अपनी जगह जिसने
वो खुदा भी उसपे कैसे मेहरबानी कर गया

485 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Yashvardhan Goel
View all
You may also like:
रंग बरसे
रंग बरसे
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
हुनर का नर गायब हो तो हुनर खाक हो जाये।
हुनर का नर गायब हो तो हुनर खाक हो जाये।
Vijay kumar Pandey
“गुरुर मत करो”
“गुरुर मत करो”
Virendra kumar
युगांतर
युगांतर
Suryakant Dwivedi
कहते हैं कि मृत्यु चुपचाप आती है। बेख़बर। वह चुपके से आती है
कहते हैं कि मृत्यु चुपचाप आती है। बेख़बर। वह चुपके से आती है
Dr Tabassum Jahan
जो रास्ते हमें चलना सीखाते हैं.....
जो रास्ते हमें चलना सीखाते हैं.....
कवि दीपक बवेजा
मकर राशि मे सूर्य का जाना
मकर राशि मे सूर्य का जाना
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
मिला है जब से साथ तुम्हारा
मिला है जब से साथ तुम्हारा
Ram Krishan Rastogi
बदलता चेहरा
बदलता चेहरा
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
तुम्हारा घर से चला जाना
तुम्हारा घर से चला जाना
Dheerja Sharma
नरभक्षी_गिद्ध
नरभक्षी_गिद्ध
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
दूसरों के कर्तव्यों का बोध कराने
दूसरों के कर्तव्यों का बोध कराने
Dr.Rashmi Mishra
बे मन सा इश्क और बात बेमन का
बे मन सा इश्क और बात बेमन का
सिद्धार्थ गोरखपुरी
उम्मीदों के आसमान पे बैठे हुए थे जब,
उम्मीदों के आसमान पे बैठे हुए थे जब,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
चुप्पी और गुस्से का वर्णभेद / MUSAFIR BAITHA
चुप्पी और गुस्से का वर्णभेद / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
शांति युद्ध
शांति युद्ध
Dr.Priya Soni Khare
जिंदगी के कुछ चैप्टर ऐसे होते हैं,
जिंदगी के कुछ चैप्टर ऐसे होते हैं,
Vishal babu (vishu)
दिखती है हर दिशा में वो छवि तुम्हारी है
दिखती है हर दिशा में वो छवि तुम्हारी है
Er. Sanjay Shrivastava
वो साँसों की गर्मियाँ,
वो साँसों की गर्मियाँ,
sushil sarna
#वाल्मीकि_जयंती
#वाल्मीकि_जयंती
*Author प्रणय प्रभात*
कड़वी  बोली बोल के
कड़वी बोली बोल के
Paras Nath Jha
साजन तुम आ जाना...
साजन तुम आ जाना...
डॉ.सीमा अग्रवाल
चाहे मिल जाये अब्र तक।
चाहे मिल जाये अब्र तक।
Satish Srijan
ज़िंदगी तेरे सवालों के
ज़िंदगी तेरे सवालों के
Dr fauzia Naseem shad
2517.पूर्णिका
2517.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
*सावन झूला मेघ पर ,नारी का अधिकार (कुंडलिया)*
*सावन झूला मेघ पर ,नारी का अधिकार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
रात सुरमई ढूंढे तुझे
रात सुरमई ढूंढे तुझे
Rashmi Ratn
तुम्हारी हँसी......!
तुम्हारी हँसी......!
Awadhesh Kumar Singh
गाए चला जा कबीरा
गाए चला जा कबीरा
Shekhar Chandra Mitra
समय पर संकल्प करना...
समय पर संकल्प करना...
Manoj Kushwaha PS
Loading...