Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 24, 2022 · 1 min read

घातक शत्रु

किसी का कोई उकवाँ-कारीबी
जो उसका साथ देता हमेशा
रहता हर वक्त हर पल सदा
वैमत्य – कलह होने पर वो
बन जाता हमारा एक वह
बड़ा ही घातक प्रतिद्वंदी
वही हमारा प्रत्यवस्थाता
प्राणांतक होता वो घातक
उसके पास हमारे निमिष,
हर क्षण-क्षण का मेल उन्हें
वही हमारा जानी वैमनस्यता
वही हमारा होता घातक शत्रु।

1 Like · 75 Views
You may also like:
इस तरहां ऐसा स्वप्न देखकर
gurudeenverma198
मुकरिया__ चाय आसाम वाली
Manu Vashistha
उम्मीद है कि वो मुझे .....।
J_Kay Chhonkar
दिल की आवाज़
Dr fauzia Naseem shad
✍️शब्दांच्या संवेदना...✍️
'अशांत' शेखर
परवाह
Anamika Singh
हमारी चेतना
Anamika Singh
✍️हार और जित✍️
'अशांत' शेखर
'वर्षा ऋतु'
Godambari Negi
जिंदगी तो धोखा है।
Taj Mohammad
" आशा की एक किरण "
DrLakshman Jha Parimal
दोहा में लय, समकल -विषमकल, दग्धाक्षर , जगण पर विचार...
Subhash Singhai
* फितरत *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
💐प्रेम की राह पर-33💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
राफेल विमान
jaswant Lakhara
प्यार
Satish Arya 6800
मंजूषा बरवै छंदों की
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
" ना रही पहले आली हवा "
Dr Meenu Poonia
मेरे पापा जैसे कोई नहीं.......... है न खुदा
Nitu Sah
पिता के होते कितने ही रूप।
Taj Mohammad
*रामपुर के गुमनाम क्रांतिकारी*
Ravi Prakash
ऐ उम्र
Anamika Singh
✍️रास्ता मंज़िल का✍️
Vaishnavi Gupta
खुदाई भरी पड़ी है।
Taj Mohammad
एक वही मल्लाह
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हाइकु: आहार।
Prabhudayal Raniwal
कंकाल
Harshvardhan "आवारा"
खुश रहना
dks.lhp
फिर से खो गया है।
Taj Mohammad
वृक्ष हस रहा है।
Vijaykumar Gundal
Loading...