Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Oct 2016 · 1 min read

ग्वाल वाल राधिका– गोपियों से अंतस: जितेंद्रकमलआनंद ( पोस्ट८०,गीत)

कवि के गीत वसंती ऋतु में
पवने भी मनमोहित करते ।।

ग्वाल – वाल ,राधिका – गोपियों
से अंतस आनंदित करते ।।
रंग – पर्व , सुकाव्य में ,
अक्षर – भाव घनेरे !
कवि क् गीत वसंती ऋतु में —
पवने भी मन मोहित करते ।।

—– जितेंद्रकमलआनंद

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Comment · 281 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
विचारमंच भाग -2
विचारमंच भाग -2
डॉ० रोहित कौशिक
कोंपलें फिर फूटेंगी
कोंपलें फिर फूटेंगी
Saraswati Bajpai
बेटी
बेटी
Dr Archana Gupta
*अपने पैरों पर चला (हिंदी गजल/गीतिका)*
*अपने पैरों पर चला (हिंदी गजल/गीतिका)*
Ravi Prakash
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Fuzail Sardhanvi
दवा दे गया
दवा दे गया
सुशील कुमार सिंह "प्रभात"
23/187.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/187.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
साहित्य सत्य और न्याय का मार्ग प्रशस्त करता है।
साहित्य सत्य और न्याय का मार्ग प्रशस्त करता है।
पंकज कुमार कर्ण
#शेर
#शेर
*Author प्रणय प्रभात*
यूं साया बनके चलते दिनों रात कृष्ण है
यूं साया बनके चलते दिनों रात कृष्ण है
Ajad Mandori
"अस्थिरं जीवितं लोके अस्थिरे धनयौवने |
Mukul Koushik
💐प्रेम कौतुक-545💐
💐प्रेम कौतुक-545💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अंधेरों में अस्त हो, उजाले वो मेरे नाम कर गया।
अंधेरों में अस्त हो, उजाले वो मेरे नाम कर गया।
Manisha Manjari
ग़ज़ल/नज़्म - एक वो दोस्त ही तो है जो हर जगहा याद आती है
ग़ज़ल/नज़्म - एक वो दोस्त ही तो है जो हर जगहा याद आती है
अनिल कुमार
है कुछ पर कुछ बताया जा रहा है।।
है कुछ पर कुछ बताया जा रहा है।।
सत्य कुमार प्रेमी
नींद की कुंजी / MUSAFIR BAITHA
नींद की कुंजी / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
अधूरी बात है मगर कहना जरूरी है
अधूरी बात है मगर कहना जरूरी है
नूरफातिमा खातून नूरी
रहस्य
रहस्य
Shyam Sundar Subramanian
बेटियाँ
बेटियाँ
लक्ष्मी सिंह
बाहर-भीतर
बाहर-भीतर
Dhirendra Singh
हादसे बोल कर नहीं आते
हादसे बोल कर नहीं आते
Dr fauzia Naseem shad
हे परम पिता परमेश्वर,जग को बनाने वाले
हे परम पिता परमेश्वर,जग को बनाने वाले
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
* कुछ पता चलता नहीं *
* कुछ पता चलता नहीं *
surenderpal vaidya
वो एक ही शख्स दिल से उतरता नहीं
वो एक ही शख्स दिल से उतरता नहीं
श्याम सिंह बिष्ट
मिमियाने की आवाज
मिमियाने की आवाज
Dr Nisha nandini Bhartiya
आप और हम जीवन के सच................एक सोच
आप और हम जीवन के सच................एक सोच
Neeraj Agarwal
राम नाम अवलंब बिनु, परमारथ की आस।
राम नाम अवलंब बिनु, परमारथ की आस।
Satyaveer vaishnav
एक अबोध बालक
एक अबोध बालक
DR ARUN KUMAR SHASTRI
🪸 *मजलूम* 🪸
🪸 *मजलूम* 🪸
सुरेश अजगल्ले"इंद्र"
सबूत- ए- इश्क़
सबूत- ए- इश्क़
राहुल रायकवार जज़्बाती
Loading...