Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Mar 2023 · 1 min read

गौरैया बोली मुझे बचाओ

गौरैया बोली मुझे बचाओ

गोरैया बोली मुझे बचाओ
अस्तित्व ना मेरा सकल मिटाओ
मैं हूं तुम्हारी मित्र पुरानी
बंद हुआ है दाना पानी
रहने को भी जगह नहीं है
अगली पीढ़ी कहां से लाऊं
कैंसे मैं अस्तित्व बचाऊं
पहले जैसा माहौल नहीं है
दुनिया भी गंभीर नहीं है
भोर में ही उठ जाती हूं
फिर मैं तुम्हें जगाती हूं
गीत प्रेम के गाती हूं
कीट पतंगे खाती हूं
मर जाती हूं बिन पानी के
तारों से टकराती हूं
कच्चे घर अब रहे नहीं
घोंसला बना नहीं पाती हूं
चलता रहा अगर ऐंसे ही
दुनिया से विदा हो जाऊंगी
फिर कैसे तुम्हें जगाऊंगी
बचपन की मैं मित्र चिरैया
नजर नहीं आऊंगी

सुरेश कुमार चतुर्वेदी

448 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from सुरेश कुमार चतुर्वेदी
View all
You may also like:
*शिवोहम्*
*शिवोहम्* "" ( *ॐ नमः शिवायः* )
सुनीलानंद महंत
हैं श्री राम करूणानिधान जन जन तक पहुंचे करुणाई।
हैं श्री राम करूणानिधान जन जन तक पहुंचे करुणाई।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
कितना अजीब ये किशोरावस्था
कितना अजीब ये किशोरावस्था
Pramila sultan
#हास_परिहास
#हास_परिहास
*Author प्रणय प्रभात*
"उड़ान"
Yogendra Chaturwedi
?????
?????
शेखर सिंह
2659.*पूर्णिका*
2659.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
" काले सफेद की कहानी "
Dr Meenu Poonia
फकीर का बावरा मन
फकीर का बावरा मन
Dr. Upasana Pandey
जन मन में हो उत्कट चाह
जन मन में हो उत्कट चाह
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
हिरनगांव की रियासत
हिरनगांव की रियासत
Prashant Tiwari
"सचमुच"
Dr. Kishan tandon kranti
इस राह चला,उस राह चला
इस राह चला,उस राह चला
TARAN VERMA
ठीक-ठाक चल रहा सभी कुछ, इतना भी क्या कम है (गीत)
ठीक-ठाक चल रहा सभी कुछ, इतना भी क्या कम है (गीत)
Ravi Prakash
प्रकृति
प्रकृति
लक्ष्मी सिंह
इसका क्या सबूत है, तू साथ सदा मेरा देगी
इसका क्या सबूत है, तू साथ सदा मेरा देगी
gurudeenverma198
काली छाया का रहस्य - कहानी
काली छाया का रहस्य - कहानी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
My Lord
My Lord
Kanchan Khanna
में इंसान हुँ इंसानियत की बात करता हूँ।
में इंसान हुँ इंसानियत की बात करता हूँ।
Anil chobisa
योग
योग
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
दोहा मुक्तक -*
दोहा मुक्तक -*
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
ठण्डी राख़ - दीपक नीलपदम्
ठण्डी राख़ - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
संत गोस्वामी तुलसीदास
संत गोस्वामी तुलसीदास
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ज़िंदगी
ज़िंदगी
Raju Gajbhiye
*शिक्षक हमें पढ़ाता है*
*शिक्षक हमें पढ़ाता है*
Dushyant Kumar
नाम उल्फत में तेरे जिंदगी कर जाएंगे।
नाम उल्फत में तेरे जिंदगी कर जाएंगे।
Phool gufran
आज का चयनित छंद
आज का चयनित छंद"रोला"अर्ध सम मात्रिक
rekha mohan
कलम की वेदना (गीत)
कलम की वेदना (गीत)
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
बहुत बार
बहुत बार
Shweta Soni
मच्छर
मच्छर
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
Loading...