Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 13, 2022 · 1 min read

गीत – याद तुम्हारी

सोनजुही सी याद तुम्हारी
आती है जब जब
मन की बगिया एहसासों की
महक उठे तब तब

मुस्कानों की याद से काटूँ
दुख की सारी रात
सुबह होठ की लाली लेकर
जैसे करती बात
छ्म – छम करते पायल जैसी
सोनी चिड़िया सब

चंचल नैन की याद से काटूँ
दिन के सब जंजाल
थकन शाम को मिट
जाती है सोच रेशमी बाल
दूर हुआ हूँ फिर भी छूटा
मैं अलकों से कब

प्यारी बैन की याद से काटूँ
सूनेपन की राह
प्रेम राग में गाती जैसे
तेरी हर परवाह
मुझे बुलाती दूर देश से
आओ मेरे रब ..

2 Likes · 84 Views
You may also like:
समझना तुझे है अगर जिंदगी को।
सत्य कुमार प्रेमी
जिसको चुराया है उसने तुमसे
gurudeenverma198
रावण का प्रश्न
Anamika Singh
ना वो हवा ना वो पानी है अब
VINOD KUMAR CHAUHAN
दिल टूट करके।
Taj Mohammad
भूले बिसरे गीत
RAFI ARUN GAUTAM
खस्सीक दाम दस लाख
Ranjit Jha
परीक्षा एक उत्सव
Sunil Chaurasia 'Sawan'
मेरी लेखनी
Anamika Singh
भारतवर्ष
AMRESH KUMAR VERMA
पानी यौवन मूल
Jatashankar Prajapati
जीवन
Mahendra Narayan
मिलन की तड़प
Dr. Alpa H. Amin
मरने के बाद।
Taj Mohammad
एक हरे भरे गुलशन का सपना
ओनिका सेतिया 'अनु '
मेरा पेड़
उमेश बैरवा
तुमसे इश्क कर रहे हैं।
Taj Mohammad
✍️✍️लफ्ज़✍️✍️
"अशांत" शेखर
जो खुद ही टूटा वो क्या मुराद देगा मुझको
Krishan Singh
एक दुखियारी माँ
DESH RAJ
नयी सुबह फिर आएगी...
मनोज कर्ण
बेरोज़गारों का कब आएगा वसंत
Anamika Singh
पिता का साथ जीत है।
Taj Mohammad
"Happy National Brother's Day"
Lohit Tamta
शब्द नही है पिता जी की व्याख्या करने को।
Taj Mohammad
जमाने मे जिनके , " हुनर " बोलते है
Ram Ishwar Bharati
हिन्दुस्तान की पहचान(मुक्तक)
Prabhudayal Raniwal
✍️कही हजार रंग है जिंदगी के✍️
"अशांत" शेखर
सलाम
Shriyansh Gupta
आंधी में दीया
Shekhar Chandra Mitra
Loading...