Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 May 2018 · 1 min read

गीत ……. चौकीदार नही रखना

***** चौकीदार नही रखना *****

डर लगता है चौकीदार से , चौकीदार नही रखना
देश का कहकर देश लूटाये , पहरेदार नही रखना
डर लगता है …………..
बात बनाये लाखो रोज जो , घूमें देश नया ..नया
हो खाली गद्दी पै ऐसा , होदेदार नही रखना
डर लगता है ……………
लूट, डकैती, बलात्कार को , जो कहदे सब होता है
परिवार सुरक्षा हेतू ऐसा , थानेदार नही रखना
डर लगता है ……………
फेंका फेंकी रोज करे जो , बातों को पंचायत में
मुकरे जो अपनी बातों से , लम्बरदार नही रखना
डर लगता है …………….
काला धन तो लौटा नही , और भूरा धन भी भगा दिया
सम्पति का ऐसा रक्षक , खातेदार नही रखना
डर लगता है ……………
बदलो. बदलो ” सागर ” इसको , वर्ना तो लूट जाओगे
हमको भारत वर्ष का ऐसा , पहरेदार नही रखना !!
डर लगता है ……………..!!
***********
बैखोफ शायर/ गीतकार/ लेखक ……..
डाँ. नरेश कुमार “सागर”
9897907490

Language: Hindi
Tag: गीत
910 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
---माँ---
---माँ---
Rituraj shivem verma
सुहाता बहुत
सुहाता बहुत
surenderpal vaidya
तेवरी
तेवरी
कवि रमेशराज
जीवन ज्योति
जीवन ज्योति
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
रोशनी का रखना ध्यान विशेष
रोशनी का रखना ध्यान विशेष
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
खालीपन - क्या करूँ ?
खालीपन - क्या करूँ ?
DR ARUN KUMAR SHASTRI
संवेदनहीन
संवेदनहीन
अखिलेश 'अखिल'
मंत्र: सिद्ध गंधर्व यक्षाधैसुरैरमरैरपि। सेव्यमाना सदा भूयात्
मंत्र: सिद्ध गंधर्व यक्षाधैसुरैरमरैरपि। सेव्यमाना सदा भूयात्
Harminder Kaur
तुम गंगा की अल्हड़ धारा
तुम गंगा की अल्हड़ धारा
Sahil Ahmad
ऐ महबूब
ऐ महबूब
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जय श्री राम
जय श्री राम
Er.Navaneet R Shandily
धर्म सवैया
धर्म सवैया
Neelam Sharma
जीत का सेहरा
जीत का सेहरा
Dr fauzia Naseem shad
गरीबी मैं खानदानी हूँ
गरीबी मैं खानदानी हूँ
Neeraj Mishra " नीर "
#जिज्ञासा-
#जिज्ञासा-
*प्रणय प्रभात*
*राजा राम सिंह चालीसा*
*राजा राम सिंह चालीसा*
Ravi Prakash
-- क्लेश तब और अब -
-- क्लेश तब और अब -
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
"जब भी ये दिल हताश होता है"
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
"परिवर्तनशीलता"
Dr. Kishan tandon kranti
आस्था विश्वास पर ही, यह टिकी है दोस्ती।
आस्था विश्वास पर ही, यह टिकी है दोस्ती।
अटल मुरादाबादी(ओज व व्यंग्य )
विनती मेरी माँ
विनती मेरी माँ
Basant Bhagawan Roy
तुम कभी यह चिंता मत करना कि हमारा साथ यहाँ कौन देगा कौन नहीं
तुम कभी यह चिंता मत करना कि हमारा साथ यहाँ कौन देगा कौन नहीं
Dr. Man Mohan Krishna
23/05.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
23/05.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
छत्तीसगढ़ स्थापना दिवस
छत्तीसगढ़ स्थापना दिवस
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
तुम्हें अहसास है कितना तुम्हे दिल चाहता है पर।
तुम्हें अहसास है कितना तुम्हे दिल चाहता है पर।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
मांँ ...….....एक सच है
मांँ ...….....एक सच है
Neeraj Agarwal
दलितों, वंचितों की मुक्ति का आह्वान करती हैं अजय यतीश की कविताएँ/ आनंद प्रवीण
दलितों, वंचितों की मुक्ति का आह्वान करती हैं अजय यतीश की कविताएँ/ आनंद प्रवीण
आनंद प्रवीण
एक मैसेज सुबह करते है
एक मैसेज सुबह करते है
शेखर सिंह
जो घर जारै आपनो
जो घर जारै आपनो
Dr MusafiR BaithA
झरोखा
झरोखा
Sandeep Pande
Loading...