Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Mar 2023 · 1 min read

गीत… (आ गया जो भी यहाँ )

गीत….

आ गया जो भी यहाँ श्रीराम जी के है शरण।
फिर कभी हनुमान जी होने नहीं देते क्षरण।।

हैं जगत के नाथ प्रभु हरते हमारी हर व्यथा।
दिव्य पावन है चरित श्रीराम मानस की कथा।।
नाम लेने मात्र से भव व्याधियों से तय तरण।
आ गया जो भी यहाँ श्रीराम जी के है शरण।।

नाम की महिमा बताते ग्रंथ युग थकते नही।
रम रहे ब्रह्माण्ड में सम्पूर्ण जो वह हैं वही।।
लाख हो दुष्वृतियां करके क्षमा करते वरण।
आ गया जो भी यहाँ श्रीराम जी के है शरण।।

भक्तवत्सल हैं करो श्रीराम की आराधना।
पूर्ण श्री हनुमान जी सबकी करेंगे साधना।।
भावना निर्मल करेगी दुर्गुणों का हर हरण।
आ गया जो भी यहाँ श्रीराम जी के है शरण।।

आचरण से सत्यता का है दिया संदेश जग।
है खिला सद्वृत्तियों से मानवी कर्तव्य मग।।
टीस दे पाता नहीं यह मृत्यु काया का जरण।
आ गया जो भी यहाँ श्रीराम जी के है शरण।।

आ गया जो भी यहाँ श्रीराम जी के है शरण।
फिर कभी हनुमान जी होने नहीं देते क्षरण।।

डाॅ. राजेन्द्र सिंह ‘राही’
(बस्ती उ. प्र.)

Language: Hindi
Tag: गीत
2 Likes · 284 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
You relax on a plane, even though you don't know the pilot.
You relax on a plane, even though you don't know the pilot.
पूर्वार्थ
Mushaakil musaddas saalim
Mushaakil musaddas saalim
sushil yadav
"खिड़की"
Dr. Kishan tandon kranti
वसन्त का स्वागत है vasant kaa swagat hai
वसन्त का स्वागत है vasant kaa swagat hai
Mohan Pandey
साँप और इंसान
साँप और इंसान
Prakash Chandra
अ'ज़ीम शायर उबैदुल्ला अलीम
अ'ज़ीम शायर उबैदुल्ला अलीम
Shyam Sundar Subramanian
*मस्ती भीतर की खुशी, मस्ती है अनमोल (कुंडलिया)*
*मस्ती भीतर की खुशी, मस्ती है अनमोल (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
काकाको यक्ष प्रश्न ( #नेपाली_भाषा)
काकाको यक्ष प्रश्न ( #नेपाली_भाषा)
NEWS AROUND (SAPTARI,PHAKIRA, NEPAL)
🌹खूबसूरती महज....
🌹खूबसूरती महज....
Dr .Shweta sood 'Madhu'
रिश्तों में आपसी मजबूती बनाए रखने के लिए भावना पर ध्यान रहना
रिश्तों में आपसी मजबूती बनाए रखने के लिए भावना पर ध्यान रहना
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
प्रेम पत्र
प्रेम पत्र
Surinder blackpen
कौन ?
कौन ?
साहिल
मैं पतंग, तु डोर मेरे जीवन की
मैं पतंग, तु डोर मेरे जीवन की
Swami Ganganiya
बर्फ की चादरों को गुमां हो गया
बर्फ की चादरों को गुमां हो गया
ruby kumari
बड्ड  मन करैत अछि  सब सँ संवाद करू ,
बड्ड मन करैत अछि सब सँ संवाद करू ,
DrLakshman Jha Parimal
जल बचाकर
जल बचाकर
surenderpal vaidya
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
जो थक बैठते नहीं है राहों में
जो थक बैठते नहीं है राहों में
REVATI RAMAN PANDEY
।।
।।
*प्रणय प्रभात*
...और फिर कदम दर कदम आगे बढ जाना है
...और फिर कदम दर कदम आगे बढ जाना है
'अशांत' शेखर
नयन प्रेम के बीज हैं,नयन प्रेम -विस्तार ।
नयन प्रेम के बीज हैं,नयन प्रेम -विस्तार ।
डॉक्टर रागिनी
अहाना छंद बुंदेली
अहाना छंद बुंदेली
Subhash Singhai
नवरात्र के सातवें दिन माँ कालरात्रि,
नवरात्र के सातवें दिन माँ कालरात्रि,
Harminder Kaur
नर नारी
नर नारी
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
3477🌷 *पूर्णिका* 🌷
3477🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
हमने माना
हमने माना
SHAMA PARVEEN
आप हाथो के लकीरों पर यकीन मत करना,
आप हाथो के लकीरों पर यकीन मत करना,
शेखर सिंह
पिताजी हमारे
पिताजी हमारे
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
मंजिल यू‌ँ ही नहीं मिल जाती,
मंजिल यू‌ँ ही नहीं मिल जाती,
Yogendra Chaturwedi
सबने पूछा, खुश रहने के लिए क्या है आपकी राय?
सबने पूछा, खुश रहने के लिए क्या है आपकी राय?
Kanchan Alok Malu
Loading...