Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jul 2016 · 1 min read

“गीतिका”

गीतिका –

* * * * *

साथ तेरा मिला हम सँभलने लगे |
ये समय को न भाया बदलने लगे |

क्या अजब रीत है इस जहाँ की सुनो
पास पैसा नहीं सुर बदलने लगे |

जब नया पद मिला और कद बढ़ गया
सब सगा है बताकर उछलने लगे |

फूल फिर इक नया जब खिला डाल पर
देख मधुकर ख़ुशी से मचलने लगे |

इश्क कैसी है’ शै ये बताना जरा
पाँव खुद ही हमारे फिसलने लगे |

जब कड़ी धूप में पाँव जलने लगे |
साथ छाया बने तुम तो चलने लगे |

“छाया”

1 Comment · 445 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
भारत में भीख मांगते हाथों की ۔۔۔۔۔
भारत में भीख मांगते हाथों की ۔۔۔۔۔
Dr fauzia Naseem shad
स्वर्गस्थ रूह सपनें में कहती
स्वर्गस्थ रूह सपनें में कहती
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
भ्रष्टाचार और सरकार
भ्रष्टाचार और सरकार
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
गाँव के दुलारे
गाँव के दुलारे
जय लगन कुमार हैप्पी
*पार्क (बाल कविता)*
*पार्क (बाल कविता)*
Ravi Prakash
रक्तदान
रक्तदान
Neeraj Agarwal
नृत्य किसी भी गीत और संस्कृति के बोल पर आधारित भावना से ओतप्
नृत्य किसी भी गीत और संस्कृति के बोल पर आधारित भावना से ओतप्
Rj Anand Prajapati
Sukun-ye jung chal rhi hai,
Sukun-ye jung chal rhi hai,
Sakshi Tripathi
निराली है तेरी छवि हे कन्हाई
निराली है तेरी छवि हे कन्हाई
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मुझे हर वो बच्चा अच्छा लगता है जो अपनी मां की फ़िक्र करता है
मुझे हर वो बच्चा अच्छा लगता है जो अपनी मां की फ़िक्र करता है
Mamta Singh Devaa
डर लगता है
डर लगता है
Shekhar Chandra Mitra
आरुणि की गुरुभक्ति
आरुणि की गुरुभक्ति
Dr. Pradeep Kumar Sharma
धनतेरस
धनतेरस
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
लाचार बचपन
लाचार बचपन
Shyam kumar kolare
'ण' माने कुच्छ नहीं
'ण' माने कुच्छ नहीं
Satish Srijan
मुझे छेड़ो ना इस तरह
मुझे छेड़ो ना इस तरह
Basant Bhagawan Roy
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀 *वार्णिक छंद।*
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀 *वार्णिक छंद।*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
■मंज़रकशी :--
■मंज़रकशी :--
*Author प्रणय प्रभात*
*इश्क़ से इश्क़*
*इश्क़ से इश्क़*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
धन की खातिर तन बिका, साथ बिका ईमान ।
धन की खातिर तन बिका, साथ बिका ईमान ।
sushil sarna
कहमुकरी
कहमुकरी
डॉ.सीमा अग्रवाल
राष्ट्रीय युवा दिवस
राष्ट्रीय युवा दिवस
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
मैथिली हाइकु कविता (Maithili Haiku Kavita)
मैथिली हाइकु कविता (Maithili Haiku Kavita)
Binit Thakur (विनीत ठाकुर)
सौन्दर्य के मक़बूल, इश्क़! तुम क्या जानो प्रिय ?
सौन्दर्य के मक़बूल, इश्क़! तुम क्या जानो प्रिय ?
Varun Singh Gautam
तू बस झूम…
तू बस झूम…
Rekha Drolia
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
23/196. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/196. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बंधन यह अनुराग का
बंधन यह अनुराग का
Om Prakash Nautiyal
गीत..
गीत..
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
"कलम की अभिलाषा"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...