Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Jul 2023 · 1 min read

गीतिका ******* आधार छंद – मंगलमाया

है जीवन संस्कार , तुम्हारी आँखों में।
देखा हमने प्यार , तुम्हारी आँखों में॥
.
बाँधे धागे स्नेह , रक्षा बंधन साथ,
बसा हृदय त्यौहार,तुम्हारी आँखों में॥

विगत हो अंतराल , दूभर ये दूरियाँ।
दिखे हैं इंतजार ,तुम्हारी आँखों में ॥

सुधियाँ अंगड़ाई , गूँथे बचपन साथ।
महके भावन ज्वार,तुम्हारी आँखों में॥

अनेक झगड़े साथ ,मात पिता की डाँट।
रूठे पुनि मनुहार , तुम्हारी आँखों में ॥

तिलक रोली चंदन ,मीठी सी तकरार।
आत्मीय समाहार , तुम्हारी आँखों में ॥

भाई बहना सार ,परवरिश यह दुलार।
महकाता संसार , तुम्हारी आँखों में ॥

___________अलका गुप्ता ‘भारती’__

Language: Hindi
1 Like · 4 Comments · 670 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"प्यार तुमसे करते हैं "
Pushpraj Anant
रोबोटिक्स -एक समीक्षा
रोबोटिक्स -एक समीक्षा
Shyam Sundar Subramanian
आने वाला वर्ष भी दे हमें भरपूर उत्साह
आने वाला वर्ष भी दे हमें भरपूर उत्साह
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
मेरी प्यारी हिंदी
मेरी प्यारी हिंदी
रेखा कापसे
अपनी गजब कहानी....
अपनी गजब कहानी....
डॉ.सीमा अग्रवाल
दिव्यांग वीर सिपाही की व्यथा
दिव्यांग वीर सिपाही की व्यथा
लक्ष्मी सिंह
प्रेम पथ का एक रोड़ा✍️✍️
प्रेम पथ का एक रोड़ा✍️✍️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
कैसे हाल-हवाल बचाया मैंने
कैसे हाल-हवाल बचाया मैंने
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
ਕੋਈ ਨਾ ਕੋਈ #ਖ਼ਾਮੀ ਤਾਂ
ਕੋਈ ਨਾ ਕੋਈ #ਖ਼ਾਮੀ ਤਾਂ
Surinder blackpen
এটি একটি সত্য
এটি একটি সত্য
Otteri Selvakumar
राम लला की हो गई,
राम लला की हो गई,
sushil sarna
मेरा प्रयास ही है, मेरा हथियार किसी चीज को पाने के लिए ।
मेरा प्रयास ही है, मेरा हथियार किसी चीज को पाने के लिए ।
Ashish shukla
कौन उठाये मेरी नाकामयाबी का जिम्मा..!!
कौन उठाये मेरी नाकामयाबी का जिम्मा..!!
Ravi Betulwala
*आइसक्रीम (बाल कविता)*
*आइसक्रीम (बाल कविता)*
Ravi Prakash
कितने फ़र्ज़?
कितने फ़र्ज़?
Shaily
2739. *पूर्णिका*
2739. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*जीवन सिखाता है लेकिन चुनौतियां पहले*
*जीवन सिखाता है लेकिन चुनौतियां पहले*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
धर्म ज्योतिष वास्तु अंतराष्ट्रीय सम्मेलन
धर्म ज्योतिष वास्तु अंतराष्ट्रीय सम्मेलन
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
-: चंद्रयान का चंद्र मिलन :-
-: चंद्रयान का चंद्र मिलन :-
Parvat Singh Rajput
पर दारू तुम ना छोड़े
पर दारू तुम ना छोड़े
Mukesh Srivastava
थोड़ा पैसा कमाने के लिए दूर क्या निकले पास वाले दूर हो गये l
थोड़ा पैसा कमाने के लिए दूर क्या निकले पास वाले दूर हो गये l
Ranjeet kumar patre
Next
Next
Rajan Sharma
■ ग़ज़ल / धूप की सल्तनत में... 【प्रणय प्रभात】
■ ग़ज़ल / धूप की सल्तनत में... 【प्रणय प्रभात】
*Author प्रणय प्रभात*
..........लहजा........
..........लहजा........
Naushaba Suriya
रंग पंचमी
रंग पंचमी
जगदीश लववंशी
मैं समझता हूँ तुमको अपना
मैं समझता हूँ तुमको अपना
gurudeenverma198
दिल में एहसास
दिल में एहसास
Dr fauzia Naseem shad
दोहा-
दोहा-
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
🌹थम जा जिन्दगी🌹
🌹थम जा जिन्दगी🌹
Dr Shweta sood
पैर धरा पर हो, मगर नजर आसमां पर भी रखना।
पैर धरा पर हो, मगर नजर आसमां पर भी रखना।
Seema gupta,Alwar
Loading...