Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Oct 2022 · 1 min read

गाछ (लोकमैथिली हाइकु)

१.
छै गाछ तर
देने पेटकुनिया
सुथनी आश
२.
गाछ पे नैछ
मुदा ढाडि गनैछ
फुन्गी चढैछ
३.
गाछ–गाछ में
किलोल करै छय
भेटै ने फल
४.
बिना फलके
गाछ तर बैठके
ढेला फेकैछ
५.
बौआके गाछ
सुखायल टटाय
मारै झटहा

Language: Maithili
3 Likes · 280 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
याद - दीपक नीलपदम्
याद - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
"अपदस्थ"
Dr. Kishan tandon kranti
जिंदगी सभी के लिए एक खुली रंगीन किताब है
जिंदगी सभी के लिए एक खुली रंगीन किताब है
Rituraj shivem verma
ग़़ज़ल
ग़़ज़ल
आर.एस. 'प्रीतम'
"विचित्रे खलु संसारे नास्ति किञ्चिन्निरर्थकम् ।
Mukul Koushik
दिखा तू अपना जलवा
दिखा तू अपना जलवा
gurudeenverma198
#हिन्दुस्तान
#हिन्दुस्तान
*Author प्रणय प्रभात*
सराब -ए -आप में खो गया हूं ,
सराब -ए -आप में खो गया हूं ,
Shyam Sundar Subramanian
आवाजें
आवाजें
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
नामुमकिन
नामुमकिन
Srishty Bansal
अग्निपरीक्षा
अग्निपरीक्षा
Shekhar Chandra Mitra
रुसवा दिल
रुसवा दिल
Akash Yadav
बेअदब कलम
बेअदब कलम
AJAY PRASAD
जानना उनको कहाँ है? उनके पते मिलते नहीं ,रहते  कहीं वे और है
जानना उनको कहाँ है? उनके पते मिलते नहीं ,रहते कहीं वे और है
DrLakshman Jha Parimal
जीना है तो ज़माने के रंग में रंगना पड़ेगा,
जीना है तो ज़माने के रंग में रंगना पड़ेगा,
_सुलेखा.
स्त्री यानी
स्त्री यानी
पूर्वार्थ
तपाक से लगने वाले गले , अब तो हाथ भी ख़ौफ़ से मिलाते हैं
तपाक से लगने वाले गले , अब तो हाथ भी ख़ौफ़ से मिलाते हैं
Atul "Krishn"
Even if you stand
Even if you stand
Dhriti Mishra
दूर चकोरी तक रही अकास...
दूर चकोरी तक रही अकास...
डॉ.सीमा अग्रवाल
नदी का किनारा ।
नदी का किनारा ।
Kuldeep mishra (KD)
ऋण चुकाना है बलिदानों का
ऋण चुकाना है बलिदानों का
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
हिंदी दिवस की बधाई
हिंदी दिवस की बधाई
Rajni kapoor
छोटी-सी बात यदि समझ में आ गयी,
छोटी-सी बात यदि समझ में आ गयी,
Buddha Prakash
🌲प्रकृति
🌲प्रकृति
Pt. Brajesh Kumar Nayak
💐प्रेम कौतुक-462💐
💐प्रेम कौतुक-462💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तुमको खोकर
तुमको खोकर
Dr fauzia Naseem shad
SuNo...
SuNo...
Vishal babu (vishu)
आसा.....नहीं जीना गमों के साथ अकेले में
आसा.....नहीं जीना गमों के साथ अकेले में
Deepak Baweja
बेटी की शादी
बेटी की शादी
विजय कुमार अग्रवाल
2382.पूर्णिका
2382.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
Loading...