Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Feb 2024 · 1 min read

ग़ज़ल

घर से जा बंजर में रह ।
फिर आकर तू घर में रह ।

जिन्दा समझा जाएगा,
रोज़-ब-रोज़ ख़बर में रह ।

दफ़्तर से तू आकर घर,
उसके दिल-दफ़्तर में रह ।

कुछ तो अच्छा कर पाए,
ऐंसे तू अवसर में रह ।

तन से रह इस दुनिया में,
मन से तू ‘ईश्वर’ में रह ।

000
—- ईश्वर दयाल गोस्वामी ।

Language: Hindi
1 Like · 79 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दौलत
दौलत
Neeraj Agarwal
एक एक ख्वाहिशें आँख से
एक एक ख्वाहिशें आँख से
Namrata Sona
🎊🏮*दीपमालिका  🏮🎊
🎊🏮*दीपमालिका 🏮🎊
Shashi kala vyas
वायदे के बाद भी
वायदे के बाद भी
Atul "Krishn"
"सफलता"
Dr. Kishan tandon kranti
Exhibition
Exhibition
Bikram Kumar
चंद आंसूओं से भी रौशन होती हैं ये सारी जमीं,
चंद आंसूओं से भी रौशन होती हैं ये सारी जमीं,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
ख्वाहिशों की ज़िंदगी है।
ख्वाहिशों की ज़िंदगी है।
Taj Mohammad
मोहब्बत का पहला एहसास
मोहब्बत का पहला एहसास
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
मंजिल
मंजिल
Swami Ganganiya
*कुमुद की अमृत ध्वनि- सावन के झूलें*
*कुमुद की अमृत ध्वनि- सावन के झूलें*
रेखा कापसे
रात का रक्स जारी है
रात का रक्स जारी है
हिमांशु Kulshrestha
ग़ज़ल सगीर
ग़ज़ल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
रात में कर देते हैं वे भी अंधेरा
रात में कर देते हैं वे भी अंधेरा
सिद्धार्थ गोरखपुरी
ਹਕੀਕਤ ਜਾਣਦੇ ਹਾਂ
ਹਕੀਕਤ ਜਾਣਦੇ ਹਾਂ
Surinder blackpen
वो नौजवान राष्ट्रधर्म के लिए अड़ा रहा !
वो नौजवान राष्ट्रधर्म के लिए अड़ा रहा !
जगदीश शर्मा सहज
हमें प्यार और घृणा, दोनों ही असरदार तरीके से करना आना चाहिए!
हमें प्यार और घृणा, दोनों ही असरदार तरीके से करना आना चाहिए!
Dr MusafiR BaithA
" बेदर्द ज़माना "
Chunnu Lal Gupta
"नाना पाटेकर का डायलॉग सच होता दिख रहा है"
शेखर सिंह
शुभ प्रभात संदेश
शुभ प्रभात संदेश
Kumud Srivastava
इश्क़—ए—काशी
इश्क़—ए—काशी
Astuti Kumari
देर तक मैंने
देर तक मैंने
Dr fauzia Naseem shad
*भाग्य विधाता देश के, शिक्षक तुम्हें प्रणाम (कुंडलिया)*
*भाग्य विधाता देश के, शिक्षक तुम्हें प्रणाम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
पत्थर तोड़ती औरत!
पत्थर तोड़ती औरत!
कविता झा ‘गीत’
सर्वोपरि है राष्ट्र
सर्वोपरि है राष्ट्र
Dr. Harvinder Singh Bakshi
3171.*पूर्णिका*
3171.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मै ठंठन गोपाल
मै ठंठन गोपाल
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
जन अधिनायक ! मंगल दायक! भारत देश सहायक है।
जन अधिनायक ! मंगल दायक! भारत देश सहायक है।
Neelam Sharma
स्पेशल अंदाज में बर्थ डे सेलिब्रेशन
स्पेशल अंदाज में बर्थ डे सेलिब्रेशन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
चेतावनी हिमालय की
चेतावनी हिमालय की
Dr.Pratibha Prakash
Loading...