Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Jul 2023 · 1 min read

#ग़ज़ल

#ग़ज़ल
■ अहसास नहीं होता है।।
【प्रणय प्रभात】

● वक़्त लगता है अनायास नहीं होता है।
अब तो विश्वास पे विश्वास नहीं होता है।।

● वो हुनर सच जिसे कहता है ज़माना सारा।
हो कसैला मगर बकवास नहीं होता है।।

● दर्द घटता नहीं बढ़ता है रोज़ ही लेकिन।
ये अलग बात है अहसास नहीं होता है।।

● वक़्त के साथ में बर्ताव बदल जाते हैं।
ख़ास हर हाल में अब ख़ास नहीं होता है।।

● वो भी तिनका है जिसे ज़ाफ़रान कहते हैं।
हरेक तिनका मियां घास नहीं होता है।।

● शोखियां सिर्फ़ मयस्सर हैं आशनाई को।
इश्क़ इक दीन है बिंदास नहीं होता है।।

● दूर हो कर भी कोई दूर नहीं हो पाता।
पास रहने से कोई पास नहीं होता है।।

● रूह से रूह मिलाना है वस्ल का मानी।।
जज़्ब-ए-वस्ल फ़क़त प्यास नहीं होता है।

●संपादक/न्यूज़&व्यूज़●
श्योपुर (मध्यप्रदेश)

Language: Hindi
1 Like · 70 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
पर्यावरण
पर्यावरण
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
यूं हर हर क़दम-ओ-निशां पे है ज़िल्लतें
यूं हर हर क़दम-ओ-निशां पे है ज़िल्लतें
Aish Sirmour
मित्र बनाने से पहले आप भली भाँति जाँच और परख लें ! आपके विचा
मित्र बनाने से पहले आप भली भाँति जाँच और परख लें ! आपके विचा
DrLakshman Jha Parimal
सावन‌ आया
सावन‌ आया
Neeraj Agarwal
कैसे देखनी है...?!
कैसे देखनी है...?!
Srishty Bansal
अर्थव्यवस्था और देश की हालात
अर्थव्यवस्था और देश की हालात
Mahender Singh Manu
भगतसिंह से सवाल
भगतसिंह से सवाल
Shekhar Chandra Mitra
"अच्छी आदत रोज की"
Dushyant Kumar
संवाद होना चाहिए
संवाद होना चाहिए
संजय कुमार संजू
'Here's the tale of Aadhik maas..' (A gold winning poem)
'Here's the tale of Aadhik maas..' (A gold winning poem)
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
आज का बचपन
आज का बचपन
Buddha Prakash
मौहब्बत में किसी के गुलाब का इंतजार मत करना।
मौहब्बत में किसी के गुलाब का इंतजार मत करना।
Phool gufran
आप अपना
आप अपना
Dr fauzia Naseem shad
श्री राजा राम राज्य रामायण
श्री राजा राम राज्य रामायण
अरविन्द व्यास
मैं तो महज जीवन हूँ
मैं तो महज जीवन हूँ
VINOD CHAUHAN
तुम्हीं हो
तुम्हीं हो
Himanshu Badoni (Dayanidhi)
2318.पूर्णिका
2318.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
क्रिकेट का पिच,
क्रिकेट का पिच,
Punam Pande
*ज्ञानी की फटकार (पॉंच दोहे)*
*ज्ञानी की फटकार (पॉंच दोहे)*
Ravi Prakash
"तुम्हारे रहने से"
Dr. Kishan tandon kranti
ऐसे काम काय करत हो
ऐसे काम काय करत हो
मानक लाल मनु
20. सादा
20. सादा
Rajeev Dutta
■ जम्हूरियत के जमूरे...
■ जम्हूरियत के जमूरे...
*Author प्रणय प्रभात*
मैं चाँद पर गया
मैं चाँद पर गया
Satish Srijan
💐प्रेम कौतुक-414💐
💐प्रेम कौतुक-414💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अपनी समस्या का समाधान_
अपनी समस्या का समाधान_
Rajesh vyas
रक्तदान
रक्तदान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
विवाद और मतभेद
विवाद और मतभेद
Shyam Sundar Subramanian
काल चक्र कैसा आया यह, लोग दिखावा करते हैं
काल चक्र कैसा आया यह, लोग दिखावा करते हैं
पूर्वार्थ
अकाल काल नहीं करेगा भक्षण!
अकाल काल नहीं करेगा भक्षण!
Neelam Sharma
Loading...