Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Nov 2022 · 1 min read

मुक्तक

ढूँढता हूँ जिसे यादों के बियाबानों में
बस गया जाके वो गैरों के गुलिस्तानों में

मिल न पाया है सिला कोई दोस्ती का मुझे
बेवज़ह नाम मेरा लिख गया दीवानों में
प्रीतम श्रावस्तवी
श्रावस्ती (उ०प्र०)
9559926244

Language: Hindi
157 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मुझको अपनी शरण में ले लो हे मनमोहन हे गिरधारी
मुझको अपनी शरण में ले लो हे मनमोहन हे गिरधारी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
तुम्हें भूल नहीं सकता कभी
तुम्हें भूल नहीं सकता कभी
gurudeenverma198
गुरु दक्षिणा
गुरु दक्षिणा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*माटी की संतान- किसान*
*माटी की संतान- किसान*
Harminder Kaur
dr arun kumar shastri -you are mad for a job/ service - not
dr arun kumar shastri -you are mad for a job/ service - not
DR ARUN KUMAR SHASTRI
3093.*पूर्णिका*
3093.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
राखी
राखी
Shashi kala vyas
"मित्रता"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
"अक्षर"
Dr. Kishan tandon kranti
शब्द
शब्द
लक्ष्मी सिंह
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
रमेशराज के कुण्डलिया छंद
रमेशराज के कुण्डलिया छंद
कवि रमेशराज
■ सारा खेल कमाई का...
■ सारा खेल कमाई का...
*Author प्रणय प्रभात*
गाँव का दृश्य (गीत)
गाँव का दृश्य (गीत)
प्रीतम श्रावस्तवी
ज्ञानमय
ज्ञानमय
Pt. Brajesh Kumar Nayak
गुलाब
गुलाब
Satyaveer vaishnav
तेरे जवाब का इंतज़ार
तेरे जवाब का इंतज़ार
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
कि हम हुआ करते थे इश्क वालों के वाक़िल कभी,
कि हम हुआ करते थे इश्क वालों के वाक़िल कभी,
Vishal babu (vishu)
પૃથ્વી
પૃથ્વી
Otteri Selvakumar
अपने लक्ष्य की ओर उठाया हर कदम,
अपने लक्ष्य की ओर उठाया हर कदम,
Dhriti Mishra
बुंदेली लघुकथा - कछु तुम समजे, कछु हम
बुंदेली लघुकथा - कछु तुम समजे, कछु हम
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
कलम की वेदना (गीत)
कलम की वेदना (गीत)
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
*इस धरा पर सृष्टि का, कण-कण तुम्हें आभार है (गीत)*
*इस धरा पर सृष्टि का, कण-कण तुम्हें आभार है (गीत)*
Ravi Prakash
Love life
Love life
Buddha Prakash
अथर्व आज जन्मदिन मनाएंगे
अथर्व आज जन्मदिन मनाएंगे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पुलिस
पुलिस
नेताम आर सी
लागे न जियरा अब मोरा इस गाँव में।
लागे न जियरा अब मोरा इस गाँव में।
डॉ.एल. सी. जैदिया 'जैदि'
प्यार आपस में दिलों में भी अगर बसता है
प्यार आपस में दिलों में भी अगर बसता है
Anis Shah
बिल्ली
बिल्ली
SHAMA PARVEEN
विनती
विनती
कविता झा ‘गीत’
Loading...