Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Jun 2016 · 1 min read

ग़ज़ल :– मुहब्बत में कही बातें !!

ग़ज़ल :– मुहब्बत में कही बातें !!

मुहब्बत में कही बातें सुहानी कब नहीं होती !
तुम्हारे प्यार की दुनियाँ दीवानी अब नहीं होती !!

इरादे प्यार के पक्के मुहब्बत में नहीं होते !
नजाकत से भरे दिल की कहानी अब नहीं होती !!

मुहब्बत मुस्कुराई थी जहाँ बागों-बगीचों में !
वो लम्हों की जो यादें हैं पुरानी अब नहीं होती !!

इश्क में दिलों के सौदे तो हर रोज़ होते हैं !
यहाँ कोई ताज सी पावन निशानी अब नहीं होती !!

‘अनुज’ तुम प्यार करके तो हुए बदनाम हो लेकिन !
लुटा साहिल में मैं भी हूँ हैरानी अब नहीं होती !!

अनुज तिवारी “इन्दवार”

391 Views
You may also like:
हैं शामिल
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
पैसा पैसा कैसा पैसा
विजय कुमार अग्रवाल
किरदार
SAGAR
लोकमाता अहिल्याबाई होलकर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
रहने वाली वो परी थी ख़्वाबों के शहर में
Faza Saaz
✍️बेगैरत गुलामी✍️
'अशांत' शेखर
मुक्तक: युद्ध को विराम दो.!
Prabhudayal Raniwal
उसी ने हाल यह किया है
gurudeenverma198
"काश हम"
Ankita
"कुछ अधूरे सपने"
MSW Sunil SainiCENA
मां की परीक्षा
Seema 'Tu hai na'
कोई अपना नहीं है
Dr fauzia Naseem shad
*पटाखों की लिस्ट (कहानी)*
Ravi Prakash
✍️आशिकों के मेले है ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
■ मुक्तक / अटल सच
*Author प्रणय प्रभात*
यह नज़र का खेल है
Shivkumar Bilagrami
# नशा मुक्ति अभियान......
Chinta netam " मन "
लगे मौत दिलरुबा है।
Taj Mohammad
आजादी का अमृत महोत्सव
surenderpal vaidya
राष्ट्रभाषा
Prakash Chandra
हर बच्चा कलाकार होता है।
लक्ष्मी सिंह
बग़ावत
Shyam Sundar Subramanian
झूठे मुकदमे
Shekhar Chandra Mitra
तू बेमिसाल है
shabina. Naaz
बंदिशे तमाम मेरे हक़ में ...........
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
कलम की ताकत
Seema gupta ( bloger) Gupta
लालच
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
समय के संग परिवर्तन
AMRESH KUMAR VERMA
" बुलबुला "
Dr Meenu Poonia
चाहत है तो रुसवाई का इमकान बहुत है। हर शख्स...
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
Loading...