Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 8, 2016 · 1 min read

ग़ज़ल :– बंदिश ये रंजिश औ नाकाम से डर जाते हैं ॥

गज़ल :– बंदिश ये रंजिश औ नाकाम से डर जाते हैं ॥
बहर :–
2212–2212–212–2212

बंदिश ये रंजिश और नाकाम से डर जाते हैं ।
रिश्ते न हो जाए ये नीलाम से डर जाते हैं ।

मयखानों में बैठे तो हम जाम से डर जाते हैं ।
पी कर के हम तो उसके अंजाम से डर जाते हैं ।

लगता है डर जालिम ज़माने की बेहयाओ से ।
जब बेअदायी हो तो ईमाम से डर जाते हैं ।

मुस्कान की चाहत में गुमनाम है ये ज़िंदगी ।
क्यों आज हम अपने ही हर काम से डर जाते हैं।

घायल हुए हालात , अक्सर दगा के वार से ।
ईमान पे हम जीते अस्काम से डर जाते हैं ।

नाबूद इन्तीकाम से हो गया हर शक्स जो ।
डरते फिदा से थे जो , इंतिकाम से डर जाते हैं ।

346 Views
You may also like:
लोकसभा की दर्शक-दीर्घा में एक दिन: 8 जुलाई 1977
Ravi Prakash
✍️बगावत थी उसकी✍️
"अशांत" शेखर
बुरा तो ना मानोगी।
Taj Mohammad
वृक्ष हस रहा है।
Vijaykumar Gundal
पितृ महिमा
मनोज कर्ण
कृष्ण पक्ष// गीत
Shiva Awasthi
कोमल एहसास प्यार का....
Dr. Alpa H. Amin
बंद हैं भारत में विद्यालय.
Pt. Brajesh Kumar Nayak
विश्व फादर्स डे पर शुभकामनाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️पैरो तले ज़मी✍️
"अशांत" शेखर
एसजेवीएन - बढ़ते कदम
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
कर तू कोशिश कई....
Dr. Alpa H. Amin
*•* रचा है जो परमेश्वर तुझको *•*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
✍️व्हाट्सअप यूनिवर्सिटी✍️
"अशांत" शेखर
तुम्हारी चाय की प्याली / लवकुश यादव "अज़ल"
लवकुश यादव "अज़ल"
दाता
निकेश कुमार ठाकुर
रामपुर का इतिहास (पुस्तक समीक्षा)
Ravi Prakash
** दर्द की दास्तान **
Dr. Alpa H. Amin
✍️एक फ़रियाद..✍️
"अशांत" शेखर
बुंदेली दोहा शब्द- थराई
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
चिराग जलाए नहीं
शेख़ जाफ़र खान
✍️✍️ओढ✍️✍️
"अशांत" शेखर
दुर्योधन कब मिट पाया:भाग:38
AJAY AMITABH SUMAN
✍️जिंदगी की सुबह✍️
"अशांत" शेखर
वक्त।
Taj Mohammad
मन बस्या राम
हरीश सुवासिया
Touching The Hot Flames
Manisha Manjari
वार्तालाप….
Piyush Goel
सार संभार
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
हमारी जां।
Taj Mohammad
Loading...