Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 May 2024 · 1 min read

ग़ज़ल(चलो हम करें फिर मुहब्ब्त की बातें)

नफ़ासत ,नज़ाकत,इबादत की बातें।
चलो फिर करें हम मुहब्बत की बातें।

हुआ आज मौसम बहुत ही सुहाना
चलो हम करें कुछ शरारत की बातें

किया आपने जब नज़र से इशारा
धड़क कर के दिल ने की चाहत की बातें

लगी आज दुनियाँ तो हमको सुहानी
चलो भूल जाएँ अदाबत की बातें

गुलाबी गुलाबी से गालों पे अक्सर।
हवाओं ने की हैं क़यामत की बातें।

वही सुर उसी राग की “रागिनी” हूँ।
बसी जिसकी धुन में रवायत की बातें।।

डॉ. रागिनी शर्मा,इंदौर

2 Likes · 35 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
एक छोटी सी तमन्ना है जीन्दगी से।
एक छोटी सी तमन्ना है जीन्दगी से।
Ashwini sharma
हर जगह तुझको मैंने पाया है
हर जगह तुझको मैंने पाया है
Dr fauzia Naseem shad
इंसानियत
इंसानियत
साहित्य गौरव
दिल में हिन्दुस्तान रखना आता है
दिल में हिन्दुस्तान रखना आता है
नूरफातिमा खातून नूरी
5
5"गांव की बुढ़िया मां"
राकेश चौरसिया
#आमंत्रित_आपदा
#आमंत्रित_आपदा
*प्रणय प्रभात*
आसमाँ .......
आसमाँ .......
sushil sarna
मेरा हाथ
मेरा हाथ
Dr.Priya Soni Khare
*रेल हादसा*
*रेल हादसा*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
గురు శిష్యుల బంధము
గురు శిష్యుల బంధము
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
One fails forward toward success - Charles Kettering
One fails forward toward success - Charles Kettering
पूर्वार्थ
A beautiful space
A beautiful space
Shweta Soni
दोहा- बाबूजी (पिताजी)
दोहा- बाबूजी (पिताजी)
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
अभी भी बहुत समय पड़ा है,
अभी भी बहुत समय पड़ा है,
शेखर सिंह
Time and tide wait for none
Time and tide wait for none
VINOD CHAUHAN
"कविता और प्रेम"
Dr. Kishan tandon kranti
कभी चुभ जाती है बात,
कभी चुभ जाती है बात,
नेताम आर सी
शीर्षक:-कृपालु सदा पुरुषोत्तम राम।
शीर्षक:-कृपालु सदा पुरुषोत्तम राम।
Pratibha Pandey
नारी के कौशल से कोई क्षेत्र न बचा अछूता।
नारी के कौशल से कोई क्षेत्र न बचा अछूता।
महेश चन्द्र त्रिपाठी
पापा के वह शब्द..
पापा के वह शब्द..
Harminder Kaur
2723.*पूर्णिका*
2723.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
हर वो दिन खुशी का दिन है
हर वो दिन खुशी का दिन है
shabina. Naaz
भ्रम अच्छा है
भ्रम अच्छा है
Vandna Thakur
“दो अपना तुम साथ मुझे”
“दो अपना तुम साथ मुझे”
DrLakshman Jha Parimal
Unveiling the Unseen: Paranormal Activities and Scientific Investigations
Unveiling the Unseen: Paranormal Activities and Scientific Investigations
Shyam Sundar Subramanian
रोम-रोम में राम....
रोम-रोम में राम....
डॉ.सीमा अग्रवाल
जिंदगी में संतुलन खुद की कमियों को समझने से बना रहता है,
जिंदगी में संतुलन खुद की कमियों को समझने से बना रहता है,
Seema gupta,Alwar
नए पुराने रूटीन के याचक
नए पुराने रूटीन के याचक
Dr MusafiR BaithA
शुभ प्रभात मित्रो !
शुभ प्रभात मित्रो !
Mahesh Jain 'Jyoti'
भले वो चाँद के जैसा नही है।
भले वो चाँद के जैसा नही है।
Shah Alam Hindustani
Loading...