Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Apr 2024 · 1 min read

गणेश वंदना

बल,बुद्धि,विवेक के तुम ही दाता!
मंगलमुर्ति हो मंगल कार्य विधाता!!
शिव-गौरा सुत, लम्बोदर सुखदाई,
मात-पितृ प्रदक्शिणा तुम्है लुभाता!!
किए पराजित कार्तिकेय विवेक से,
प्रथम पूज्य पद तुम्है सदा दिलाता!!

1 Like · 43 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Bodhisatva kastooriya
View all
You may also like:
बंटते हिन्दू बंटता देश
बंटते हिन्दू बंटता देश
विजय कुमार अग्रवाल
हरसिंगार
हरसिंगार
Shweta Soni
रक्षा के पावन बंधन का, अमर प्रेम त्यौहार
रक्षा के पावन बंधन का, अमर प्रेम त्यौहार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
उड़ान
उड़ान
Saraswati Bajpai
*A date with my crush*
*A date with my crush*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
2459.पूर्णिका
2459.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
चंद्रयान 3
चंद्रयान 3
Dr.Priya Soni Khare
हाथों ने पैरों से पूछा
हाथों ने पैरों से पूछा
Shubham Pandey (S P)
■ नेक सलाह। स्वधर्मियों के लिए। बाक़ी अपने मालिक को याद करें।
■ नेक सलाह। स्वधर्मियों के लिए। बाक़ी अपने मालिक को याद करें।
*प्रणय प्रभात*
तिमिर है घनेरा
तिमिर है घनेरा
Satish Srijan
हवाओं से कह दो, न तूफ़ान लाएं
हवाओं से कह दो, न तूफ़ान लाएं
Neelofar Khan
क्रव्याद
क्रव्याद
Mandar Gangal
प्रकृति और मानव
प्रकृति और मानव
Kumud Srivastava
यह कौन सी तहजीब है, है कौन सी अदा
यह कौन सी तहजीब है, है कौन सी अदा
VINOD CHAUHAN
ग़़ज़ल
ग़़ज़ल
आर.एस. 'प्रीतम'
काश कि ऐसा होता....
काश कि ऐसा होता....
Ajay Kumar Mallah
आई दिवाली कोरोना में
आई दिवाली कोरोना में
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
उफ़ ये बेटियाँ
उफ़ ये बेटियाँ
SHAMA PARVEEN
बधाई का गणित / मुसाफ़िर बैठा
बधाई का गणित / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
ख़ालीपन
ख़ालीपन
MEENU SHARMA
प्यास बुझाने का यही एक जरिया था
प्यास बुझाने का यही एक जरिया था
Anil Mishra Prahari
मंदिर का न्योता ठुकराकर हे भाई तुमने पाप किया।
मंदिर का न्योता ठुकराकर हे भाई तुमने पाप किया।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
वीर बालिका
वीर बालिका
लक्ष्मी सिंह
सफल
सफल
Paras Nath Jha
- अपनो का दर्द सहते सहनशील हो गए हम -
- अपनो का दर्द सहते सहनशील हो गए हम -
bharat gehlot
जिनके बिन घर सूना सूना दिखता है।
जिनके बिन घर सूना सूना दिखता है।
सत्य कुमार प्रेमी
"जिंदगी में गम ना हो तो क्या जिंदगी"
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
13-छन्न पकैया छन्न पकैया
13-छन्न पकैया छन्न पकैया
Ajay Kumar Vimal
दुआएं
दुआएं
Santosh Shrivastava
अहा! जीवन
अहा! जीवन
Punam Pande
Loading...