Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Jun 2023 · 1 min read

ख्वाबों में मेरे इस तरह न आया करो

ख्वाबों में मेरे इस तरह न आया करो,
आकर तुम इस तरह न सताया करो।
आना हो अगर सचमुच में आया करो,
आकर तुम मेरी प्यास को बुझाया करो।।

परछाई आपकी हमारे दिल में है,
शक्ल आपकी हमारी आंखों में है
कैसे भुला दे हम आपको अब कैसे
वो प्यार आपका हमारी सांसों में है।।

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

Language: Hindi
5 Likes · 4 Comments · 634 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ram Krishan Rastogi
View all
You may also like:
2767. *पूर्णिका*
2767. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
दोहे- चार क़दम
दोहे- चार क़दम
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
सुख दुःख
सुख दुःख
विजय कुमार अग्रवाल
किराये के मकानों में
किराये के मकानों में
करन ''केसरा''
वो भी तो ऐसे ही है
वो भी तो ऐसे ही है
gurudeenverma198
अच्छा रहता
अच्छा रहता
Pratibha Pandey
न काज़ल की थी.......
न काज़ल की थी.......
Keshav kishor Kumar
"झाड़ू"
Dr. Kishan tandon kranti
संदेह से बड़ा
संदेह से बड़ा
Dr fauzia Naseem shad
आपकी वजह से किसी को दर्द ना हो
आपकी वजह से किसी को दर्द ना हो
Aarti sirsat
कुछ ऐसे भी लोग कमाए हैं मैंने ,
कुछ ऐसे भी लोग कमाए हैं मैंने ,
Ashish Morya
चीरता रहा
चीरता रहा
sushil sarna
#करना है, मतदान हमको#
#करना है, मतदान हमको#
Dushyant Kumar
वर्ण पिरामिड
वर्ण पिरामिड
Neelam Sharma
*इस वसंत में मौन तोड़कर, आओ मन से गीत लिखें (गीत)*
*इस वसंत में मौन तोड़कर, आओ मन से गीत लिखें (गीत)*
Ravi Prakash
क़ीमती लिबास(Dress) पहन कर शख़्सियत(Personality) अच्छी बनाने स
क़ीमती लिबास(Dress) पहन कर शख़्सियत(Personality) अच्छी बनाने स
Trishika S Dhara
समय आयेगा
समय आयेगा
नूरफातिमा खातून नूरी
दोहा
दोहा
गुमनाम 'बाबा'
An Evening
An Evening
goutam shaw
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Dr. Sunita Singh
हार हमने नहीं मानी है
हार हमने नहीं मानी है
संजय कुमार संजू
आखिरी दिन होगा वो
आखिरी दिन होगा वो
shabina. Naaz
सवर्ण पितृसत्ता, सवर्ण सत्ता और धर्मसत्ता के विरोध के बिना क
सवर्ण पितृसत्ता, सवर्ण सत्ता और धर्मसत्ता के विरोध के बिना क
Dr MusafiR BaithA
आंखन तिमिर बढ़ा,
आंखन तिमिर बढ़ा,
Mahender Singh
कैसे भूल जाएं...
कैसे भूल जाएं...
इंजी. संजय श्रीवास्तव
हैप्पी न्यू ईयर 2024
हैप्पी न्यू ईयर 2024
Shivkumar Bilagrami
क्यों तुमने?
क्यों तुमने?
Dr. Meenakshi Sharma
आप हरते हो संताप
आप हरते हो संताप
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
चंद्रयान 3
चंद्रयान 3
Dr.Priya Soni Khare
जिस प्रकार लोहे को सांचे में ढालने पर उसका  आकार बदल  जाता ह
जिस प्रकार लोहे को सांचे में ढालने पर उसका आकार बदल जाता ह
Jitendra kumar
Loading...